महाराष्ट्र: अघाड़ी सरकार में सबकुछ ठीक नहीं! कल CM उद्धव ठाकरे से मुलाकात करेंगे कांग्रेस नेता
Mumbai News in Hindi

महाराष्ट्र: अघाड़ी सरकार में सबकुछ ठीक नहीं! कल CM उद्धव ठाकरे से मुलाकात करेंगे कांग्रेस नेता
कांग्रेस नेता कल को सीएम उद्धव ठाकरे से मुलाकात करेंगे (फाइल फोटो)

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और राजस्व मंत्री बाला साहब थोराट (Balasaheb Thorat) की अगुआई में कांग्रेस नेता सोमवार को सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) से मुलाकात करेंगे.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन 'महा विकास आघाडी' सरकार में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और पूर्व सीएम अशोक चव्हाण (Ashok Chavan) ने इस पर मुहर लगाई है. चव्हाण ने कहा कि कुछ मुद्दे हैं, जिनको लेकर कांग्रेस नेता सोमवार को सीएम उद्धव ठाकरे (uddhav thackeray) से मुलाकात करेंगे. सूत्रों के मुताबिक, विधान परिषद की 12 खाली सीटों को लेकर कांग्रेस नेता नाराज बताए जा रहे हैं.

सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस चाहती है कि सभी सीटों का बंटवारा तीन पार्टियों के बीच बराबर हो. वर्तमान में शिवसेना के खाते में 5, एनसीपी को 4 और कांग्रेस के खाते में 3 सीटें जाने की चर्चा है. अशोक चव्हाण ने कहा कि बैठक में इस मुद्द को सुलझाया जाएगा. चव्हाण ने कहा, 'MVA घटक दलों और ब्यूरोक्रेसी के बीच कुछ मुद्दे हैं. हम इस पर मुख्यमंत्री से बात करेंगे. हम अपने सभी मुद्दों पर विस्तार से चर्चा करने के लिए सीएम से मिलने की कोशिश कर रहे हैं. हम उम्मीद करते हैं कि अगले दो दिन में उनके साथ बैठक होगी.'

थोराट की अगुवाई में कांग्रेस नेता उद्धव से करेंगे मुलाकात



जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और राजस्व मंत्री बाला साहब थोराट (Balasaheb Thorat) की अगुआई में कांग्रेस नेता सोमवार को सीएम उद्धव ठाकरे से मुलाकात करेंगे. कांग्रेस नेता पार्टी की अहम बैठकों में ना बुलाए जाने और बड़े फैसलों में पार्टी की भूमिका कम होने की शिकायत के साथ पार्टी निसर्ग चक्रवात में स्थानीय लोगों के मुआवजे देने जैसे मुद्दों को उठाएगी.
इस बात से खफा है कांग्रेस?

समाचार एजेंसी PTI के अनुसार कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री NCP के अध्यक्ष, शरद पवार से कोविड-19 वैश्विक महामारी और चक्रवात ‘निसर्ग’ से प्रभावित लोगों को राहत देने समेत अन्य कई मुद्दों पर चर्चा कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि इससे ऐसी भावना पैदा हो रही है कि प्रदेश कांग्रेस को अलग-थलग कर दिया गया है. कांग्रेस के एक मंत्री ने कहा, 'कुछ मुद्दों को लेकर पार्टी के अंदर नाराजगी है, जिसपर हम मुख्यमंत्री के साथ चर्चा करना चाहते हैं और उन्हें सुलझाना चाहते हैं.' पार्टी के एक अन्य नेता ने कहा कि जब पिछले साल नवंबर में तीन दलों की सरकार बनी थी और मंत्रिपरिषद ने शपथ ली थी, उस वक्त यह फैसला हुआ था कि सत्ता एवं जिम्मेदारियों में बराबर साझेदारी होगी.

'निर्णय लेने की प्रक्रिया का हिस्सा नहीं बनाया जा रहा'
PTI के अनुसार पार्टी के सूत्र ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहेब थोराट और पीडब्ल्यूडी मंत्री अशोक चव्हाण राज्यपाल कोटा से विधान परिषद नामांकनों, राज्य सरकार द्वारा संचालित निगमों एवं बोर्ड में नियुक्ति और कांग्रेस मंत्रियों को आ रही समस्याओं से जुड़े मुद्दे पर चर्चा करने के लिए ठाकरे से सोमवार को मुलाकात करेंगे.

प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने इस हफ्ते की शुरुआत में मुलाकात कर यह चर्चा की थी कि पार्टी नेताओं एवं मंत्रियों को गठबंधन सरकार में निर्णय लेने की प्रक्रिया का हिस्सा नहीं बनाया जा रहा है. मुख्यमंत्री के करीबी सहयोगी मिलिंद नारवेकर भी कांग्रेस नेतृत्व के विचारों को जानने के लिए इस बैठक में मुख्यमंत्री के दूत के रूप में उपस्थित थे. (एजेंसी इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-

महाराष्‍ट्र में कोरोना से हालात गंभीर, एक दिन में 113 की मौत और 3427 नए केस

बंबई हाईकोर्ट की सख्त टिप्पणी, कहा- कोरोना के संकट ने दिखा दिये असली हालात
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading