लाइव टीवी
Elec-widget

मंत्री पद छोड़ते ही भड़के अरविंद सावंत, कहा- शिवसेना बनिया की दुकान नहीं जो...

भाषा
Updated: November 11, 2019, 4:54 PM IST
मंत्री पद छोड़ते ही भड़के अरविंद सावंत, कहा- शिवसेना बनिया की दुकान नहीं जो...
अरविंद सावंत ने बीजेपी पर साधा निशाना (फाइल फोटो)

वहीं, नवाब मलिक (Nawab Malik) ने कहा है कि एनसीपी कोई भी फैसला अपनी सहयोगी कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही लेगी. उन्होंने कहा कि एक साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर काम करने के साथ ही “कुछ बड़े मुद्दों” पर सहमति बनाने की जरूरत है.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन पर जारी गतिरोध के बीच राकांपा (NCP) नेता नवाब मलिक ने सोमवार को कहा कि राज्य में लोगों की दशा को ध्यान में रखते हुए एक विकल्प उपलब्ध कराना 'हम सभी की' जिम्मेदारी है. हालांकि, मलिक ने यह भी कहा कि एनसीपी कोई भी फैसला अपनी सहयोगी कांग्रेस (Congress) के साथ सहमति बना कर ही लेगी. सरकार बनाने के लिए कांग्रेस और एनसीपी के शिवसेना (Shiv Sena) को समर्थन देने की संभावनाओं की खबरों के बीच मलिक ने मुंबई में मीडिया से बात करते हुए कहा कि एक साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर काम करने के साथ ही 'कुछ बड़े मुद्दों' पर सहमति बनाने की जरूरत है.

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के मुख्य प्रवक्ता ने कहा, 'लोगों एवं किसानों की दशा को देखते हुए एक विकल्प उपलब्ध कराना हम सभी की जिम्मेदारी है. हम कांग्रेस से एक निर्णय की उम्मीद कर रहे हैं. अगर सहमति बनती है, तो हम सरकार गठन की दिशा में आगे बढ़ेंगे.' हालांकि, मलिक ने यह भी स्पष्ट किया कि एनसीपी अपने फैसले पर तब तक आगे नहीं बढ़ेगी, जब तक राज्य में सरकार गठन को लेकर कांग्रेस नेतृत्व कुछ तय नहीं कर लेता.

शिवसेना कोई बनिया की दुकान नहीं
वहीं, शिवसेना के सांसद अरविंद सावंत ने मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कहा कि शिवसेना कोई बनिया की दुकान नहीं है जो मुनाफा और घाटा देखती है. हमारे लिए सेवा ही सब कुछ है. जिनके लिये सत्ता साध्य है, वो घाटे और मुनाफे की बात करते हैं. उन्होंने कहा कि जहां तक आदित्य ठाकरे के पोटेंशियल की बात है तो यू-ट्यूब पर जाकर देख लें कि उसके अंदर कितना पोटेंशियल है.

105 सीटों के साथ भाजपा सबसे बड़ा दल
बता दें, राज्य में 105 सीटों के साथ सबसे बड़े दल के तौर पर उभरी भाजपा ने रविवार को यह कहते हुए सरकार गठन का दावा पेश करने से इनकार किया कि उसके पास पर्याप्त संख्याबल नहीं है. इसके बाद राज्यपाल ने दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना को आमंत्रित किया जो मुख्यमंत्री पद साझा करने को लेकर भाजपा के साथ खींचतान में उलझी रही है. शिवसेना ने राज्य में 21 अक्टूबर को हुए चुनाव में 56 सीटें जीती हैं जबकि एनसीपी और कांग्रेस ने क्रमश: 54 और 44 सीटें हासिल की हैं.

ये भी पढ़ें- 
Loading...

महाराष्ट्र में सत्ता का संग्राम: BJP-शिवसेना के बीच लड़ाई की ये है असली वजह

महाराष्ट्र LIVE: गवर्नर से 2:30 बजे मिलेगी शिवसेना, 4 बजे फैसला लेगी कांग्रेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 3:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com