लाइव टीवी

महाराष्ट्र का महाभारत: सरकार गठन के मामले में अब गेंद शिवसेना के पाले में

पीटीआई
Updated: November 5, 2019, 8:04 AM IST
महाराष्ट्र का महाभारत: सरकार गठन के मामले में अब गेंद शिवसेना के पाले में
महाराष्ट्र में सरकार गठन के मामले में भाजपा और शिवसेना में कोई भी दल झुकने को तैयार नहीं हो रहा है इसलिए सरकार गठन में गतिरोध बना हुआ है.

फडणवीस ने सोमवार को दिल्ली पहुंचकर अमित शाह सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की. उन्होंने कहा कि सरकार का गठन जल्द से जल्द किया जाना चाहिए. फडणवीस ने विश्वास व्यक्त किया कि राज्य में नई सरकार का जल्द गठन किया जाएगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. सोमवार को बीजेपी (BJP) से जुड़े सूत्रों ने बताया कि पार्टी इंतजार करेगी और देखेगी कि अगले कुछ दिन में राज्य में हालात कैसे बनते हैं, क्योंकि सरकार बनाने के मामले में गेंद अब गठबंधन के सहयोगी शिवसेना (Shiv Sena) के पाले में है. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने सोमवार को दिल्ली पहुंचकर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की. उन्होंने कहा कि सरकार का गठन जल्द से जल्द किया जाना चाहिए. फडणवीस ने विश्वास व्यक्त किया कि राज्य में नई सरकार का जल्द गठन किया जाएगा.

'किसानों को सहायता देने के लिए बैठक बुलाने का अनुरोध किया'
हालांकि, बाद में एक ट्वीट में, देंवेंद्र फडणवीस ने कहा कि उन्होंने बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों के लिए केंद्र से अधिक सहायता लेने के लिए अमित शाह से मुलाकात की और इस पर एक विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की. उन्होंने केंद्र द्वारा बीमा कंपनियों के साथ मानदंडों को शिथिल करने और किसानों को अधिकतम सहायता देने के लिए एक बैठक बुलाने का अनुरोध किया है. जिसके बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने तुरंत संबंधित अधिकारियों से इस बैठक को तय करने को कहा.

Loading...



इंतजार करना पसंद करेगी बीजेपी
फडणवीस ने बाद में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और पार्टी के चुनाव प्रभारी भूपेंद्र यादव से भी मुलाकात की. सूत्रों ने कहा कि, पार्टी गठबंधन के अंत तक खड़ी रही और हमेशा गठबंधन धर्म की भावना से काम किया. जहां तक महाराष्ट्र में सरकार के गठन का मामला है, गेंद शिवसेना के पाले में है. सूत्रों ने कहा कि बीजेपी इंतजार करना और देखना पसंद करेगी कि अगले कुछ दिन में हालात कैसे बनते हैं. पिछले कुछ दिनों से राज्य में सरकार बनाने को लेकर बीजेपी और उसकी सहयोगी शिवसेना के बीच तनातनी चल रही है.

NCP सुप्रीमो शरद पवार के संपर्क में हैं शिवसेना नेता
शिवसेना नेता एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के संपर्क में भी हैं. हालांकि एनसीपी अभी तक कहती आई है कि महाराष्ट्र की जनता ने उसे विपक्ष में बैठने का मत दिया है इसलिए वो सरकार बनाने की दौड़ में शामिल नहीं होगी. लेकिन सूत्रों के मुताबिक शिवसेना के बार-बार आग्रह के बाद पार्टी इस बारे में कोई स्टैंड ले सकती है.

बता दें कि वर्ष 2014 से अलग इस बार के विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना ने गठबंधन कर चुनाव लड़ा था. चुनाव नतीजों में बीजेपी 105 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी है. जबकि उसकी सहयोगी शिवसेना के खाते में 56 सीटें आई हैं. हालांकि दोनों दल मुख्यमंत्री पद पर दावे को लेकर गतिरोध में फंस गए हैं. शिवसेना शीर्ष पद (सीएम पद) के कार्यकाल का बराबर-बराबर यानी ढाई-ढाई साल विभाजन की मांग कर रही है लेकिन बीजेपी ने इसे साफ खारिज कर दिया है.

ये भी पढ़ें - 

भविष्य निधि घोटाला: सचिव ऊर्जा, एमडी पावर कॉरपोरेशन का देर रात तबादला

भारत के हितों, राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के खिलाफ है आरसीईपी: पीयूष गोयल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 6:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...