लाइव टीवी

महाराष्‍ट्र: निर्दलीय विधायकों को अपने खेमे में करने में जुटी BJP-शिवसेना

News18Hindi
Updated: October 28, 2019, 8:42 AM IST
महाराष्‍ट्र: निर्दलीय विधायकों को अपने खेमे में करने में जुटी BJP-शिवसेना
गठबंधन के दल बीजेपी और शिवसेना निर्दलीय विधायकों को अपने पाले में करने की कोशिश में लग गए हैं. (फाइळ फोटो)

महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना (BJP-Shiv Sena) के चुनाव पूर्व गठबंधन को बहुमत है, लेकिन दोनों दलों के बीच मुख्‍यमंत्री की कुर्सी को लेकर खींचतान के साथ दबाव बनाने की राजनीति जारी है. इस बीच दोनों दल निर्दलीय विधायकों को अपने पाले में करने की कोशिश में लग गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2019, 8:42 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में हाल में संपन्‍न विधानसभा चुनावों (Assembly Elections 2019) में किसी भी दल को स्‍पष्‍ट बहुमत हासिल नहीं हुआ है. हालांकि, बीजेपी-शिवसेना (BJP-Shiv Sena) के चुनाव पूर्व गठबंधन को बहुमत है, लेकिन दोनों दलों के बीच मुख्‍यमंत्री की कुर्सी को लेकर खींचतान के साथ दबाव बनाने की राजनीति जारी है. शिवसेना चुनाव परिणाम के बाद से ही ढाई-ढाई साल के फॉर्मूले पर सरकार बनाने की बात कर रही है. दूसरी तरफ BJP विधायकों के लिहाज से सबसे बड़ी पार्टी होने का हवाला देते हुए इस फॉर्मूले पर अपनी सहमति नहीं दी है. इस गतिरोध के बीच बीजेपी और शिवसेना निर्दलीय विधायकों को अपने-अपने खेमे में करने में जुटी है. अब तक ऐसे पांच MLA दोनों दलों के समर्थन की बात कह चुके हैं.

भाजपा को समर्थन देने की घोषणा करने वाले तीन निर्दलीय विधायकों में गीता जैन, राजेंद्र राउत और रवि राणा शामिल हैं. ठाणे जिले की मीरा भयंदर सीट से जीतीं गीता जैन ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात के बाद भाजपा को समर्थन देने का ऐलान किया. विधानसभा चुनाव में वह भाजपा से टिकट चाहती थीं, ऐसा न होने पर उन्‍होंने निर्दलीय चुनाव लड़ा था. जैन ने बीजेपी प्रत्याशी नरेंद्र मेहता को हराया था.

फडणवीस से की मुलाकात
राजेंद्र राउत भी भाजपा के बागी प्रत्याशी थे और उन्होंने सोलापुर जिले की बरसी सीट से शिवसेना के प्रत्याशी दिलीप सोपाल को हरा दिया था. रवि राणा ने अमरावती जिले के बडनेरा सीट पर अपने निकटवर्ती प्रतिद्वंद्वी प्रत्याशी प्रीति बंद (शिवसेना) को मात दी थी. जैन और राउत ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात के बाद भाजपा को समर्थन देने की घोषणा की जबकि राणा ने चिट्ठी लिखकर यह घोषणा की.

दो निर्दलीय शिवसेना में हुए थे शामिल
इससे पहले अचलपुर से विधायक बाच्चु काडु और उनके सहयोगी एवं मेलघाट से विधायक राजकुमार पटेल ने शिवसेना को समर्थन देने की पेशकश की. दोनों सीटें विदर्भ के अमरावती जिले की हैं. काडु प्रहर जनशक्ति पार्टी के प्रमुख हैं.

कांग्रेस-NCP ने किया था गीता जैन का समर्थन
Loading...

जैन को चुनाव के दौरान कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने समर्थन किया था, लेकिन ठाकुर से मुलाकात के बाद उनके राजनीतिक कदम को लेकर अटकलों का दौर शुरू हो गया था. जब काडु के समर्थन के बारे में पूछा गया तो शिवसेना के नेता ने कहा कि इससे पार्टी की भाजपा के साथ तोलमोल करने की ताकत बढ़ेगी. उन्होंने कहा, 'हमने 2014-19 के दौरान भाजपा के साथ समायोजन किया, लेकिन अब यह समय अपनी हिस्सेदारी प्राप्त करने का है.'

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव के नतीजों में 2014 के मुकाबले भाजपा की कम सीटें आने के बाद से शिवसेना ने अपना रुख कड़ा कर लिया है और सरकार में 50-50 फीसदी हिस्सेदारी की मांग कर रही है.

ये भी पढ़ें-

शिवसेना बोली- उद्धव के हाथों में है महाराष्ट्र में सत्ता का रिमोट

BJP-शिवसेना में उठापटक जारी, फडणवीस बोले- बीजेपी ही देगी स्थिर सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 28, 2019, 8:23 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...