लाइव टीवी

BMC मेयर चुनाव: शिवसेना के पास बना रहेगा मुंबई महापौर का पद! जानें- इसकी वजह

भाषा
Updated: November 18, 2019, 11:57 PM IST
BMC मेयर चुनाव: शिवसेना के पास बना रहेगा मुंबई महापौर का पद! जानें- इसकी वजह
भाजपा के उम्मीदवार नहीं उतारने से शिवसेना के पास मुंबई महापौर का पद बने रहना लगभग तय हो गया. (फाइल फोटो)

बीएमसी (BMC) में कुल 227 सीटें है. इन पार्षदों द्वारा महापौर (Mayor) का चुनाव किया जाता है. वर्तमान में शिवसेना (Shiv Sena) के पास बीएमसी (BMC) में 84 सदस्य और भाजपा (BJP) के पास 82 सदस्य हैं.

  • भाषा
  • Last Updated: November 18, 2019, 11:57 PM IST
  • Share this:
मुंबई. देश की सबसे अमीर महानगरपालिका, बृहन्मुंबई महानगर पालिका (Brihanmumbai Municipal Corporation) के चुनाव में भाजपा (BJP) के उम्मीदवार नहीं उतारने के निर्णय के बाद शिवसेना (Shiv Sena) के पास मुंबई महापौर (Mumbai Mayor) का पद बने रहना सोमवार को लगभग तय हो गया है. शिवसेना की उम्मीदवार किशोरी पेडणेकर ने 22 नवम्बर को होने वाले महापौर पद के चुनाव के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया.

अपनी विचारधारा के साथ समझौता नहीं करेगी भाजपा
चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने का सोमवार को अंतिम दिन था. इससे पहले भाजपा विधायक आशीष शेलार ने कहा कि भाजपा मुंबई महापौर के चुनावों में अपना उम्मीदवार नहीं उतारेगी. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के पास संख्या बल नहीं है और विपक्षी दलों के साथ शामिल होकर पार्टी अपनी विचारधारा के साथ समझौता नहीं करेगी.

शिवसेना ने भाजपा के समर्थन से दो दशकों से अधिक समय तक शासन किया हैशेलार ने दावा किया कि 2022 में भाजपा के पास संख्या होगी और पार्टी अपने बलबूते महापौर चुनाव में जीत दर्ज करेगी. शिवसेना ने भाजपा के समर्थन से बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) में दो दशकों से अधिक समय तक शासन किया है. भाजपा के चुनाव नहीं लड़ने के फैसले से महापौर पद पर शिवसेना का कब्जा बरकरार रखने का मार्ग प्रशस्त हो गया. वर्ष 2017 में भाजपा ने इस पद के लिए शिवसेना के विश्वनाथ महादेश्वर का समर्थन किया था.

शिवसेना की किशोरी पेडणेकर ने सोमवार को महापौर पद के लिए दाखिल किया नामांकन
प्रभादेवी से चार बार पार्षद रही पेडणेकर ने सोमवार को महापौर पद के लिए नामांकन दाखिल किया जबकि पार्षद मलाड सुहास वडकर ने उपमहापौर पद के लिए नामांकन दाखिल किया. गौरतलब है कि गत 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव के परिणामों की घोषणा होने के बाद मुख्यमंत्री पद के बंटवारे को लेकर शिवसेना और भाजपा के बीच खींचतान चलती रही है और इस वजह से अब तक सरकार का गठन नहीं हो सका है.

ये भी पढ़ें - 

बाल ठाकरे की श्रद्धांजलि सभा में BJP-शिवसेना ने एक दूसरे से काटी कन्नी

सोनिया-पवार की बैठक खत्म, महाराष्‍ट्र में सरकार गठन पर लगभग 1 घंटे चला मंथन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 8:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर