लाइव टीवी

महाराष्ट्र के महापौर चुनाव में भी जारी रह सकता है BJP-शिवसेना में टकराव

News18Hindi
Updated: November 20, 2019, 5:07 PM IST
महाराष्ट्र के महापौर चुनाव में भी जारी रह सकता है BJP-शिवसेना में टकराव
महाराष्ट्र के महापौर चुनाव में भी जारी रह सकता है BJP-शिवसेना का टकराव

शिवसेना (Shiv Sena) महाराष्ट्र नगर निकाय चुनावों में बीजेपी (BJP) को दोबारा सत्ता में आने से रोकने के लिए कांग्रेस-एनसीपी (Congress-NCP) से हाथ मिला सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 5:07 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सत्ता को लेकर शिवसेना (Shiv Sena) और कांग्रेस-एनसीपी के बीच बदलते रिश्ते को देखते हुए आगामी महापौर चुनाव (Mayor Election) में कुछ रोचक परिदृश्य देखने को मिल सकता है. शिवसेना नगर निकायों में बीजेपी को दोबारा सत्ता में आने से रोकने के लिए कांग्रेस-एनसीपी (Congress-NCP) से हाथ मिला सकती है.

कुछ नगर निगमों में कांग्रेस और एनसीपी शिवसेना के समर्थन से मजबूत स्थिति में आ सकती है, जबकि कुछ में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिल सकता है. महाराष्ट्र में महापौर के चुनाव 22 नवंबर को होंगे. इनमें अहमदनगर, नागपुर, पुणे, पिम्परी, चिंचवाड, लातूर, सांगली मिराज कुपवाड़, धुले, नवी मुंबई और नासिक में बीजेपी के सत्ता पर कब्जा बरकरार रखने की संभावना है, जहां पार्टी मजबूत स्थिति में है.

सीएम को लेकर बीजेपी-शिवसेना हुए थे अलग
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद मुख्यमंत्री पद साझा करने के मुद्दे पर अपनी पुरानी सहयोगी बीजेपी से अलग होने के बाद महाराष्ट्र में नया राजनीतिक समीकरण उभर रहा है. शिवसेना अपनी पारंपरिक विरोधी एनसीपी और कांग्रेस के साथ संबंध विकसित कर रही है. ये नए घटनाक्रम राज्य की राजनीति की रूपरेखा तय करेंगे.

राजनीतिक पर्यवेक्षकों ने बुधवार को कहा कि संभावित राजनीतिक उलट-फेर और समीकरण इस बात पर निर्भर करता है कि तीनों दल राज्य स्तर पर सरकार के गठन को लेकर अपनी बातचीत में कैसे आगे बढ़ते हैं. मंगलवार को एनसीपी की सुरमंजीरी लाटकर कोल्हापुर नगर निगम की नयी महापौर बनीं, जबकि कांग्रेस के संजय मोहिते को उपमहापौर चुना गया. मतदान के दौरान शिवसेना के चार पार्षद अनुपस्थित थे.

बीजेपी के पास 65 पार्षद
122 सदस्यीय नासिक नगर निगम (एनएमसी) में सत्तारूढ़ बीजेपी के पास 65 पार्षद हैं, इसके बाद शिवसेना (34), एनसीपी और कांग्रेस (दोनों के छह), मनसे (पांच), निर्दलीय (तीन) और आरपीआई-ए (एक) के पार्षद हैं.
Loading...

खरीद-फरोख्त के खतरे से बचने के लिये सभी पार्टियों ने अपने-अपने पार्षदों को शहर के बाहर विभिन्न जगहों पर भेज दिया था. दो पार्षदों के विधायक चुने जाने के बाद एनएमसी में प्रभावी क्षमता 120 हो गई है.

ऐसी अटकलें हैं कि बीजेपी से महापौर पद छीनने के लिए शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस के साथ हाथ मिला सकती है. ऐसे परिदृश्य में मनसे की भूमिका अहम होने की संभावना है.

ये भी पढ़ें-

महाराष्ट्र में सत्ता संग्राम: अब सामने आया सरकार बनाने का नया फॉर्मूला

राज्यसभा में सीट बदले जाने से भड़के संजय राउत, वेंकैया नायडू को लिखा पत्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 4:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...