अपना शहर चुनें

States

मुंबई: सांस नहीं शराबियों का हुआ ब्लड टेस्ट, शराब पीकर गाड़ी चलाते पकड़े गए 35 लोग

(सांकेतिक तस्वीर)
(सांकेतिक तस्वीर)

Mumbai Update: पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले साल, नए वर्ष के मौके पर 677 लोगों को शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़ा गया था और अदालत ने छह महीने के लिए उनका लाइसेंस रद्द कर दिया था.

  • Share this:
मुंबई. कोरोना वायरस (Corona Virus) के चलते महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार सख्त रवैया अपना रही है. नव वर्ष के मौके पर मुंबई प्रशासन ने शहर में नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) लगाने का फैसला किया था. जिसके मद्देनजर शहर में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात था. खास बात है कि इस दौरान पुलिस ने शराब पीकर गाड़ी चलाने (Drink and Driving) के आरोप में 35 लोगों को पकड़ा है. गौरतलब है कि मुंबई में 5 जनवरी तक रात 11 बजे से सुबह छह बजे तक का कर्फ्यू लगा है.

मुंबई में नववर्ष के जश्न (New Year Celebration) के मौके पर 35 लोगों को शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़ा गया. हालांकि पिछले कुछ वर्षों के मुकाबले में यह आंकड़ा काफी कम है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले साल, नए वर्ष के मौके पर 677 लोगों को शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़ा गया था और अदालत ने छह महीने के लिए उनका लाइसेंस रद्द कर दिया था.

यह भी पढ़ें: मुंबई पुलिस ने व्हाट्सऐप चैट से बताया कैसे मनाएं नए साल का जश्न, Funny memes हुए Viral



उन्होंने कहा, ‘इस साल, केवल 35 लोग शहर में शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़े गए. यह संख्या पिछले कुछ वर्षों की तुलना में काफी कम है.’ पुलिस ने बताया कि कोरोना वायरस के मद्देनजर रात को लगे कर्फ्यू के कारण अधिकतर लोगों ने घर में ही नव वर्ष का जश्न मनाया. वाहनों की सुगम आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए नए साल की पूर्व संध्या पर शहर में कई स्थानों पर मुम्बई यातायात पुलिस के कर्मी तैनात किए गए थे.

उन्होंने कहा, ‘वैश्विक महामारी के कारण यातायात पुलिस ने ‘ब्रेथ एनालाइजर’ का इस्तेमाल ना करने का निर्णय किया था. इस कारण वाहन चालकों के रक्त के नमूनों की जांच की गई.’ उन्होंने बताया कि रक्त के नमूनों की जांच में 35 चालकों के नशे में होने की बात सामने आई. अधिकारी ने कहा, ‘इसी के आधार पर उनके खिलाफ कार्रवाई की गई.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज