कोर्ट में वकील ने उतारा मास्क तो बॉम्बे HC ने कर दिया सुनवाई से इंकार

बॉम्बे हाईकोर्ट में कोरोना नियमों के पालन की मिसाल पेश की गई है. (फाइल फोटो)

बॉम्बे हाईकोर्ट में कोरोना नियमों के पालन की मिसाल पेश की गई है. (फाइल फोटो)

बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) के जस्टिस पृथ्वीराज के चह्वाण एक मामले की सुनवाई कर रहे थे. इसी दौरान याचिकाकर्ता के वकील ने मास्क उतार दिया. इस पर कोरोना गाइडलाइंस का हवाला देते हुए जस्टिस पृथ्वीराज ने सुनवाई करने से मना कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 27, 2021, 9:27 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना के चिंताजनक हालात के बीच बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) के एक जज ने वकील (Advocate) के मास्क उतारने (Removed Mask) पर सुनवाई से इंकार दिया है. दरअसल बीती 22 फरवरी जस्टिस पृथ्वीराज के. चह्वाण एक मामले की सुनवाई कर रहे थे. इसी दौरान याचिकाकर्ता के वकील ने मास्क उतार दिया. इस पर कोरोना गाइडलाइंस का हवाला देते हुए जस्टिस पृथ्वीराज ने सुनवाई करने से मना कर दिया.

गौरतलब कि महाराष्ट्र में बीते चार दिनों से लगातार कोरोना के 8 हजार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं. तेजी से बढ़ते नए मामलों के मद्देनजर राज्य के कई जिलों में लॉकडाउन की घोषणा की गई है. इसके बावजूद मामलों में कमी नहीं आ रही है.

कई जिलों में लॉकडाउन और प्रतिबंध
इस बीच यह भी खबर आई है कि राज्य के अकोला जिले में लॉकडाउन 7 दिन बढ़ाकर 8 मार्च तक कर दिया गया है. इसके अलावा नागपुर में सात मार्च तक जिले के सभी स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे जबकि प्रमुख बाजार इस अवधि में शनिवार एवं रविवार को नहीं खुलेंगे. बारात घरों को 25 फरवरी से सात मार्च तक इस्तेमाल नहीं करेंगे और राजनीतिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों की अनुमति नहीं होगी. अमरावती जिले में भी 22 फरवरी से एक हफ्ते के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया था.
1 मार्च से बढ़ाया जा रहा है कोरोना वैक्सीनेशन का दायरा


इस बीच बढ़ते मामलों के मद्देनजर केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीनेशन के नियमों में बदलाव किया है. मंत्रालय ने कहा है, ‘एक मार्च से देशव्यापी टीकाकरण का बड़े पैमाने पर विस्तार किया जा रहा है जिससे कि 60 साल से अधिक उम्र के लोगों और पहले से ही किसी अन्य बीमारी से पीड़ित 45 से अधिक उम्र के लोगों को इसमें शामिल किया जा सके.’ सरकार का प्रयास है कि तेजी से वैक्सीनेशन का दायरा बढ़ाकर संक्रमण की चेन तोड़ने के प्रयास को रफ्तार दी जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज