लाइव टीवी

शिरडी से एक साल में गायब हुए 88 लोग, हाईकोर्ट ने कहा- मानव तस्करी की करें जांच

भाषा
Updated: December 15, 2019, 10:50 AM IST
शिरडी से एक साल में गायब हुए 88 लोग, हाईकोर्ट ने कहा- मानव तस्करी की करें जांच
पिछले एक साल में शिरडी से 88 लोग गायब हुए हैं. (बॉम्बे हाईकोर्ट की फाइल फोटो)

बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने महाराष्ट्र (Maharashtra) के शिरडी शहर से पिछले एक साल में 88 से अधिक व्यक्तियों के कथित रूप से लापता होने के तथ्य का संज्ञान लिया. कोर्ट ने पुलिस को गुमशुदगी के पीछे (मानव) तस्करी या अंग रैकेट की संभावना की जांच करने का आदेश भी दिया है.

  • भाषा
  • Last Updated: December 15, 2019, 10:50 AM IST
  • Share this:
मुंबई. बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने महाराष्ट्र (Maharashtra) के शिरडी शहर से पिछले एक साल में 88 से अधिक व्यक्तियों के कथित रूप से लापता होने के तथ्य का संज्ञान लिया. कोर्ट ने पुलिस को गुमशुदगी के पीछे (मानव) तस्करी या अंग रैकेट की संभावना की जांच करने का आदेश भी दिया है. बॉम्बे हाईकोर्ट की औरंगाबाद पीठ के जस्टिस टीवी नलवाडे और जस्टिस एसएम गवान्हे की पीठ ने मनोज कुमार नामक एक व्यक्ति की 2018 की आपराधिक याचिका पर सुनवाई करते हुए पिछले महीने यह टिप्पणी की. मनोज की पत्नी 2017 में शिरडी से लापता हो गई थी.

गायब लोगों में ज्यादातर महिलाएं शामिल
अदालत ने कहा, 'पिछले एक साल में शिरडी से 88 से अधिक लोग कथित रूप से लापता हो गए. ज्यादातर मामलों में, लोग मंदिर में दर्शन करने के लिए शिरडी आए थे.' अहमदनगर जिले में शिरडी में साईबाबा का प्रसिद्ध मंदिर है जिन्हें विभिन्न समुदाय के लोग पूजते हैं. देश के सबसे समृद्ध धर्मस्थलों में शामिल शिरडी में रोजना देश-विदेश से हजारों लोग पहुंचते हैं. पीठ ने कहा कि गायब लोगों में कुछ का पता चला लेकिन कुछ का कोई पता नहीं चला. उनमें ज्यादातर महिलाएं हैं.

मामले की अगली सुनवाई 10 जनवरी, 2020 को

जस्टिस ने कहा, 'जब कोई गरीब व्यक्ति गायब होता है तो रिश्तेदार असहाय होते हैं. ज्यादातर लोग पुलिस के पास पहुंचते ही नहीं और बमुश्किल ही ऐसे मामले इस अदालत में आ पाते हैं.' पीठ ने कहा, 'इस प्रकार, ऐसी संभावना है कि रिकार्ड के अनुसार 88 से अधिक लोग गायब हो गए.' अदालत ने कहा कि ऐसी घटनाओं के पीछे वजह मानव तस्करी या अंगों का रैकेट हो सकती है. अदालत ने कहा, 'ऐसी संभावना के कारण, यह अदालत अमहदनगर के पुलिस अधीक्षक से जांच के लिए विशेष इकाई गठित करने की उम्मीद करती है और तस्करी या अंगों के खरीद-फरोख्त में लगे लोगों का पता लगाने और कार्रवाई करने की उम्मीद है.' मामले की अगली सुनवाई 10 जनवरी, 2020 को होगी.

ये भी पढ़ें-पिता परिवार के साथ समय बिता सके इसके लिए बेटी ने CM उद्धव ठाकरे को लिखा पत्र

अमूल का दूध हुआ इतने रुपये तक महंगा, जानिए अमूल गोल्ड समेत अन्य की नई कीमतें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2019, 10:50 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर