लाइव टीवी

गैंगस्टर ऐजाज लकड़ावाला का खुलासा-1998 में ही मर जाता दाऊद इब्राहिम, इस एक वजह से बच गया
Mumbai News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 24, 2020, 6:20 PM IST
गैंगस्टर ऐजाज लकड़ावाला का खुलासा-1998 में ही मर जाता दाऊद इब्राहिम, इस एक वजह से बच गया
गैंगस्टर लकड़वाला ने खुलासा किया है कि डॉन दाऊद इब्राहिम साल 1998 में ही मार दिया जाता लेकिन...

छोटा राजन (Chhota Rajan) के गुर्गों ने साल 1998 में भगोड़े अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) को जान से मारने की साजिश रची थी, हालांकि वे सफल नहीं हो पाए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 6:20 PM IST
  • Share this:
मुंबई. बीते महीने बिहार के पटना से पकड़े गए गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला (Ejaz Lakdawala) ने मुंबई पुलिस (Mumbai Police) की पूछताछ में एक बड़ा खुलासा किया है. गैंगस्टर ऐजाज लकड़ावाला ने मुंबई पुलिस को बताया कि छोटा राजन (Chhota Rajan) के गुर्गों ने साल 1998 में भगोड़े अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) को जान से मारने की साजिश रची थी, हालांकि वे सफल नहीं हो पाए थे. मुंबई पुलिस ने बीती 9 जनवरी को पटना पुलिस की मदद से लकड़ावाला को दरभंगा जाते हुए धर दबोचा था. लकड़ावाला छोटा राजन का करीबी रहा है.

सूत्रों के मुताबिक एजाज ने पूछताछ में कई अहम जानकारियां पुलिस से साझा की हैं. एजाज का दावा है कि साल 1998 में छोटा राजन के कहने पर वह राजन के अन्य करीबी विक्की मल्होत्रा की एक 10 लोगों की टीम का हिस्सा था. इस टीम में फरीद तनाशा, बालू डोकरे, विनोट मटकर, संजय घाटे और बाबा रेड्डी जैसे अन्य गैंगस्टर और शार्प शूटर शामिल थे. इस टीम को दाऊद को मारने की जिम्मेदारी दी गई थी और इन सभी लोगों ने इस काम के लिए कराची की एक दरगाह के बाहर कई दिनों तक दाऊद का इंतजार भी किया था.

कराची में रची गई थी साजिश
एजाज के मुताबिक ये प्लान दाऊद की बेटी मारिया की मौत के बाद बनाया गया था. छोटा राजन किसी भी कीमत पर दाऊद की हत्या करना चाहता था. शूटर्स ने कराची की दरगाह के बाहर इसी जगह को इसलिए चुना था क्योंकि यहां दाऊद की बेटी की कब्र थी और वो यहां आने वाला था. हालांकि मिर्जा दिलशाद बेग ने दाऊद को इस प्लान के बारे में बता दिया और ये योजना पूरी नहीं हो सकी. मिर्जा नेपाल का सांसद और दाऊद का करीबी सहयोगी था. एजाज का दावा है कि नेपाल के सांसद मिर्जा को छोटा राजन के लोगों ने ही मारा था.



दाऊद ने भी किया था जवाबी हमला
एजाज ने पुलिस को बताया कि दाऊद इब्राहिम को मारने के असफल प्रयास के बाद छोटा शकील के गुर्गों ने उसे और गैंगस्टर छोटा राजन पर हमला किया था. बाद में इस प्लान को कैंसिल कर छोटा राजन ने उनसे फौरन इन सभी को वहां से निकलने के लिए कह दिया था.

बाद में मल्होत्रा ने नेपाली सांसद को मार दिया वहीं दाऊद इब्राहिम के करीबी सहयोगी मुन्ना झिंगाड़ा उर्फ सैयद मुदस्सर हुसैन ने 2000 में छोटा राजन पर हमला किया था. बता दें कि लकड़ावाला पर 2002 में बैंकॉक के व्यस्त बोबई मार्केट में हमला किया गया. धार्मिक प्रवृत्ति के लकड़ावाला ने दावा किया कि छोटा शकील के गुर्गों ने उसे पास से छाती, हाथ और गर्दन पर गोलियां मारीं, लेकिन वह एक ताबीज पहने होने की वजह से बच गया.

ये भी पढ़ें:

VIDEO: जहरीले सांपों से भरे कुएं में गिरा युवक, पैंट में घुसा कोबरा और फिर...

Pro CAA Protest: मौजपुर के प्रदर्शनकारी बोले- जाफराबाद का रास्ता खुलवाओ

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 5:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर