महाराष्ट्र: कांग्रेस का बीजेपी पर निशाना, कहा-सरकार हर मुद्दे को आयोजन में बदल देती है

महाराष्ट्र कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोराट (फाइल फोटो)
महाराष्ट्र कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोराट (फाइल फोटो)

बालासाहेब थोराट (Balasaheb Thorat) ने कहा, 'कोरोना वायरस ने देश को बुरी तरह जकड़ रखा है, ऐसे में प्रधानमंत्री को अब कम से कम गंभीर होने की जरूरत है. क्या लोगों से ताली बजवाना और लाइट लैम्प देना पीएम का काम है?'

  • Share this:
मुंबई. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने पूरे देश से एक बार फिर अपील की है कि वह इस महामारी की घड़ी में एकजुटता दिखाएं. पीएम मोदी ने इस रविवार रात 9 बजे दीया या मोमबत्ती जलाने का आग्रह किया है. इससे पहले जनता कर्फ्यू के मौके पर पीएम ने थाली-ताली बजाने को कहा था. इस बीच पीएम मोदी के इस ऐलान पर कांग्रेस ने तंज कसा है. महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोराट (Balasaheb Thorat) ने कहा कि केंद्र सरकार हर गंभीर मुद्दे को आयोजन बनाना चाहती है.

थोराट ने कहा, 'कोरोना वायरस ने देश को बुरी तरह जकड़ रखा है, ऐसे में प्रधानमंत्री को अब कम से कम गंभीर होने की जरूरत है. क्या लोगों से ताली बजवाना और लाइट लैम्प देना पीएम का काम है? बीजेपी हर मुद्दे को एक आयोजन बनाना चाहती है.'

पीएम मोदी मुद्दों को लेकर गंभीर हों- थोराट
कांग्रेस नेता ने कहा कि देश इस समय कठिन परिस्थिति से गुजर रहा है, क्योंकि प्रत्येक दिन कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं. ऐसे समय में प्रधानमंत्री से कुछ नीतिगत निर्णय लेने की उम्मीद की जा रही है. लोगों से ताली बजवाना, लाइट लैम्प देना प्रधानमंत्री का काम नहीं है. बालासाहेब थोराट ने कहा कि यह समय आ गया है कि पीएम नरेंद्र मोदी कम से कम मुद्दों को लेकर गंभीर हों.
राहत पैकेज की घोषणा की आवश्यकता


थोराट ने कहा, ‘कोरोना संकट से लड़ने के लिए डॉक्टर, नर्स, पुलिस, पैरा-मेडिकल स्टाफ सभी अपनी जान जोखिम में डालकर काम कर रहे हैं. इस समय इन लोगों के पीछे मजबूती से खड़े होने और मदद करने की आवश्यकता है. इस समय जो आवश्यक है वह पर्याप्त संख्या में वेंटिलेटर उपलब्ध कराना, परीक्षण प्रयोगशालाओं की संख्या बढ़ाना, डॉक्टरों और उनके कर्मचारियों को पीपीई प्रदान कराना. साथ ही राज्यों को इस संकट से लड़ने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जा सके. उन्होंने कहा कि इस समय आम जनता को आशा की जरूरत है और जो लोग अपनी आजीविका खो चुके हैं उनके लिए राहत पैकेज की घोषणा की आवश्यकता है.

कांग्रेस नेता ने कहा कि जब कोई देश संकट से गुजर रहा होता है तो एक जिम्मेदार नेतृत्व की आवश्यकता होती है. लेकिन दुर्भाग्य से बीजेपी या उसके नेताओं के पास यह उपलब्ध नहीं है. बीजेपी इसे एक आयोजन बनाना चाहती है. इससे देश को काफी नुकसान उठाना पड़ेगा. थोराट ने कहा कि बीजेपी सरकार ऐसे पीआर स्टंट की घोषणा करके मुद्दे की गंभीरता को दूर करने की कोशिश कर रही है.

ये भी पढ़ें :-

कोरोना मरीज का खाली किया बेड नवजात बच्चे और मां को किया अलॉट, दोनों पॉजिटिव

महाराष्ट्र में कोरोना से एक दिन में हुई 7 लोगों की मौत, अब तक 335 लोग संक्रमित
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज