सियासी जमीन बचाने की कोशिश, कांग्रेस के दो पूर्व CM गणपति के माध्यम से साध रहे राजनीतिक हित

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election 2019) से पहले कांग्रेस (Congress) के दिग्गज नेता अपनी सियासी जमीन बचाने के लिए इस बार गणपति पूजा (Ganpati Puja) मुंबई (Mumbai) में नहीं बल्कि अपने क्षेत्र में कर रहे हैं.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election 2019) से पहले कांग्रेस (Congress) के दिग्गज नेता अपनी सियासी जमीन बचाने के लिए इस बार गणपति पूजा (Ganpati Puja) मुंबई (Mumbai) में नहीं बल्कि अपने क्षेत्र में कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election 2019) से पहले महाराष्ट्र में इन दिनों राजनीतिक उठापटक तेज हो गई है. कांग्रेस-एनसीपी (Congress-NCP) के नेता हर दिन बीजेपी-शिवसेना (BJP-Shiv Sena) में शामिल हो रहे हैं, जिससे कांग्रेस और एनसीपी दोनों ही परेशान है. पिछले लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र (Maharashtra) से आने वाले कांग्रेस के दो बड़े दिग्गज नेता चुनाव हार गए थे.

अब उन्हें डर सता रहा है कि अगर वह अपने लोकसभा और विधानसभा क्षेत्रों में सक्रिय नहीं हुए, तो आने वाले समय में इस चुनाव में भी लोकसभा जैसा ही नतीजा आएगा. इसी डर के कारण वे अब उन्हें मुंबई छोड़कर अपने गृह जनपद, गृह विधानसभा और लोकसभा क्षेत्रों में जाना पड़ रहा है.

अशोक चव्हाण गणपति पूजा के लिए पहुंचे नांदेड़
ऐसा ही हाल है महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक चव्हाण (Ashok Chavan) का. आम तौर पर मुंबई स्थित अपने आवास पर गणपति बिठाने वाले चव्हाण ने इस बार नांदेड़ (Nanded) में गणपति बिठाने का फैसला किया है. गणपति पूजन (Ganpati Puja) के साथ-साथ वे यहां पर विधानसभा चुनाव की तैयारियों का जायजा लेंगे. इसके अलावा जितने भी उनके कार्यकर्ता हैं, वे गणपति दर्शन करने आएंगे और राजनीतिक माहौल पर चर्चा होगी. इससे कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाया जा सकेगा.

इस बार सुशील शिंदे भी नहीं कर रहे मुंबई में पूजा
ऐसा ही हाल कांग्रेस के पूर्व गृह मंत्री और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार शिंदे (Sushil Kumar Shinde) का है. सिंधे भी इस बार अपने मुंबई स्थित घर बांद्रा में गणपति न बिठाकर पूरे परिवार सहित फिलहाल सोलापुर चले गए हैं. यहां पर वह गणपति बिठाकर अपने विधानसभा और लोकसभा क्षेत्र में आने वाली जितनी भी सीटें हैं, उनका जायजा लेंगे. साथ ही कार्यकर्ताओं से संवाद कर उन्हें गणपति दर्शन के लिए बुलाएंगे.

अपने गृह क्षेत्र में गणपति बिठाने को मजबूर हैं कांग्रेसी दिग्गज
गणपति पूजन के माध्यम से कांग्रेस के नेता पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं. जिस तरीके के हालात महाराष्ट्र में पैदा हुए हैं, उससे कहीं ना कहीं कांग्रेस के दिग्गज नेताओं को अब डर लगने लगा है कि उनकी राजनीतिक जमीन कहीं खिसक न जाए. शायद वही जमीन बचाने के लिए अब ये नेता मुंबई में गणपति न बिठाकर अपने गृह क्षेत्रों में गणपति बिठाने के लिए मजबूर हो गए हैं.

ये भी पढ़ें-

...तो शरद पवार और पृथ्वीराज चव्हाण को छोड़ उनकी पार्टी में कोई नहीं बचेगा- अमित शाह

कांग्रेस-NCP नेता संत नहीं, स्वार्थ की वजह से BJP में हो रहे शामिल: खड़से

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.