खरीद-फरोख्त से बचाने को जयपुर भेजे जा सकते हैं महाराष्ट्र के कांग्रेस विधायक
Mumbai News in Hindi

खरीद-फरोख्त से बचाने को जयपुर भेजे जा सकते हैं महाराष्ट्र के कांग्रेस विधायक
कांग्रेस पार्टी हर हाल में अपने विधायकों को खरीद-फरोख्त और टूटने से बचाना चाहती है. (फाइल फोटो)

कांग्रेस (Congress) विधायक नाना पटोले (Nana Patole) ने शनिवार रात को बताया कि, ‘हम नवनिर्वाचित विधायकों के शपथ, विधानसभाध्यक्ष के चुनाव और विश्वासमत के लिए राज्य विधानसभा (Assembly) का विशेष सत्र आहूत होने तक जयपुर (Jaipur) में ही रहेंगे.’

  • भाषा
  • Last Updated: November 23, 2019, 10:16 PM IST
  • Share this:
मुम्बई. राकांपा नेता अजित पवार के बगावत करके शनिवार को भाजपा के साथ हाथ मिला लेने के बाद महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक जोड़-तोड़ के बीच सहयोगी कांग्रेस ने अपने विधायकों को किसी खरीद-फरोख्त से बचाने के प्रयास में जुट गई है. पार्टी अपने विधायकों को खरीद-फरोख्त से बचाने के लिए हवाईमार्ग से जयपुर भेज सकती है. यह जानकारी शनिवार रात में पार्टी के एक नेता ने दी.

अजित पवार को राकांपा के विधायक दल के नेता पद से हटाया गया
इससे पहले दिन में हुए नाटकीय घटनाक्रम में राकांपा प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजित पवार ने राजभवन में राज्य के उप मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले ली जबकि देवेंद्र फडणवीस ने दूसरे कार्यकाल के लिए मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. इसके बाद रात में अजित पवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के विधायक दल के नेता पद से हटा दिया गया. राकांपा ने गत अक्टूबर में हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में 54 सीटें जीती हैं.

कांग्रेस के सभी विधायक साथ हैं और वे नहीं टूटेंगे
कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना ने एक गठबंधन सरकार को लगभग अंतिम रूप दे दिया था, तभी अजित पवार ने यह चौंकाने वाला राजनीतिक कदम उठाया. कांग्रेस विधायक नाना पटोले ने शनिवार रात को बताया कि, ‘हम कल जयपुर जा सकते हैं’. पटोले ने कहा कि कांग्रेस के सभी विधायक साथ हैं और वे नहीं टूटेंगे.



राज्य के लोकतांत्रिक इतिहास का काला दिन रहा शनिवार
288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा ने 105 सीटें, शिवसेना ने 56 और कांग्रेस ने 44 सीटें जीती हैं. उन्होंने कहा कि फडणवीस को नए मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लिए 12 घंटे बीत चुके हैं, न तो कैबिनेट की बैठक बुलाई गई है और न ही राज्य विधानसभा का विशेष सत्र घोषित किया गया है. पटोले ने शनिवार को राज्य के लोकतांत्रिक इतिहास का एक ‘काला दिन’ करार दिया.

उद्धव ठाकरे ने पार्टी के विधायकों से पांच सितारा होटल में मुलाकात की
इस बीच इससे संबंधित घटनाक्रम में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपनी पार्टी के विधायकों से उपनगरीय क्षेत्र स्थित एक पांच सितारा होटल में मुलाकात की और वर्तमान राजनीतिक परिस्थिति पर चर्चा की.

ये भी पढ़ें - 

अजित पवार का कदम अनुशासनहीनता, शिवसेना-NCP-कांग्रेस बनाएगी सरकार: शरद पवार

विधायकों से बोले उद्धव ठाकरे- कोई हिम्मत न हारे, हम ही बनाएंगे सरकार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज