लाइव टीवी

CAA Protest: कांग्रेस, राकांपा और अन्य दलों ने बनाया ‘हम भारत के लोग’ मोर्चा, करेंगे विरोध प्रदर्शन

News18Hindi
Updated: December 19, 2019, 12:05 PM IST
CAA Protest: कांग्रेस, राकांपा और अन्य दलों ने बनाया ‘हम भारत के लोग’ मोर्चा, करेंगे विरोध प्रदर्शन
संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण का विरोध करने के लिए कांग्रेस, एनसीपी और अन्य दलों ने ‘हम भारत के लोग’ नामक एक मोर्चा बनाया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कांग्रेस (Congress), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) तथा अन्य दलों ने ‘हम भारत के लोग’ नामक एक मोर्चा बनाया है जो संशोधित नागरिकता कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (NRC) के खिलाफ गुरुवार को प्रदर्शन करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 19, 2019, 12:05 PM IST
  • Share this:
मुंबई. कांग्रेस (Congress), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) तथा अन्य दलों ने एक मोर्चा बनाया है जो संशोधित नागरिकता कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (NRC) के खिलाफ गुरुवार को प्रदर्शन करेगा. मोर्चे की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि कुछ पार्टियों ने मिल कर ‘हम भारत के लोग’ नाम का एक मोर्चा गठित किया है जो मुंबई के अगस्त क्रांति मैदान में संशोधित नागरिकता कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (NRC) विरोध प्रदर्शन करेगा.

राजनीतिक दलों के अलावा नागरिक संगठन भी लेंगे प्रदर्शन में हिस्सा
मोर्चे ने संशोधित नागरिकता कानून और एनआरसी को ‘असंवैधानिक और भेदभावपूर्ण’ करार दिया है. कांग्रेस और राकांपा की महाराष्ट्र इकाई के अलावा सपा, भाकपा, माकपा, जद (एस), पीजे़ंट्स एंड वर्कर्स पार्टी ऑफ इंडिया, मुस्लिम लीग तथा विभिन्न नागरिक संगठन भी इस प्रदर्शन में हिस्सा लेंगे.

बिस्मिल, अशफाकउल्ला खान और रोशन सिंह को आज ही दी गई थी फांसी

मोर्चे ने अपने बयान में कहा कि 19 दिसंबर का दिन ऐतिहासिक है क्योंकि 1927 में आज ही के दिन राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाकउल्ला खान और रोशन सिंह जैसे स्वतंत्रता सेनानियों को फांसी के तख्ते पर चढ़ाया गया था.

साम्प्रदायिक सौहार्द के संदेश का प्रतीक है इन 3 नेताओं की फांसी
मोर्चे के बयान में इसे देश के स्वतंत्रता संग्राम की समृद्ध विरासत और महात्मा गांधी तथा अन्य राष्ट्रीय नेताओं के साम्प्रदायिक सौहार्द के संदेश का प्रतीक बताया गया है.संविधान का उल्लंघन कर उसे बनाया जा रहा है निशाना
‘हम भारत के लोग’ के बयान में कहा गया है, ‘डॉ बी आर आम्बेडकर द्वारा तैयार किए गए संविधान का उल्लंघन हो रहा है और उसको निशाना बनाया जा रहा है. यही कारण है कि पूरे देश ने भाजपा सरकार के असंवैधानिक और विभाजनकारी कानूनों की निंदा करने के लिए इस दिन को चुना है.’

देश भर में हो रहा इस कानून का विरोध
संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश में धार्मिक उत्पीड़न के कारण देश में शरण लेने आए हिंदू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्ध धर्म के उन लोगों को भारत की नागरिकता दी जाएगी, जिन्होंने 31 दिसंबर 2014 तक भारत में प्रवेश कर लिया था. ऐसे सभी लोग भारत की नागरिकता के लिए आवेदन कर सकेंगे. इस कानून के विरोधियों का कहना है कि इसमें सिर्फ गैर मुस्लिमों को नागरिकता देने की बात कही गई है, इसलिए यह धार्मिक भेदभाव वाला कानून है जो कि संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन है.

ये भी पढे़ं - 

Traffic Alert: आज भी बंद रहेगी मथुरा रोड और कालिंदी कुंज रूट

मुंबई में शिवसेना नेता पर सुबह-सुबह चलाईं गोलियां, आरोपी गिरफ्तार

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 19, 2019, 12:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर