लाइव टीवी

शिवसेना को समर्थन देने बोली कांग्रेस- NCP के साथ मिलकर करेंगे फैसला

भाषा
Updated: November 6, 2019, 10:01 PM IST
शिवसेना को समर्थन देने बोली कांग्रेस- NCP के साथ मिलकर करेंगे फैसला
समर्थन के नाम पर कांग्रेस ने शिवसेना को दिया ये जवाब

भाजपा (BJP) के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने इस बात पर जोर दिया कि पार्टी मुख्यमंत्री (CM) पद को लेकर कोई समझौता नहीं करेगी.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार बनाने को लेकर खीचतान के बीच राजनीतिक दलों से रोज नए बयान आ रहे हैं. इसी क्रम में अब कांग्रेस ने शिवसेना (Shiv Sena) की समर्थन देने के मामले में स्पष्ट किया है. कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार को समर्थन के संबंध में कोई भी फैसला उनकी पार्टी और उसकी सहयोगी एनसीपी साथ मिलकर लेगी.

शिवसेना को समर्थन देने पर ये बोली कांग्रेस...
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री ने यहां मीडिया से बात करते हुए कहा कि जब तक कांग्रेस और एनसीपी एक साथ राजी नहीं होती है, मुद्दे पर आगे नहीं बढ़ा जाएगा. चव्हाण ने कहा कि 21 अक्टूबर को हुए विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला और यही वजह है कि कांग्रेस का मानना है कि भाजपा को सत्ता में नहीं होना चाहिए.

विपक्ष में बैठना चाहती है एनसीपी

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के करीब पखवाड़े भर बाद बुधवार को राज्य में नई सरकार के गठन की संभावनाएं बनती नजर आईं. दरअसल, भाजपा नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल बृहस्पतिवार को राज्यपाल से मिलने वाला है जबकि एनसीपी ने स्पष्ट कर दिया है कि वह विपक्ष में बैठने को प्राथमिकता देगी.

शिवसेना को अबतक नहीं मिला कोई प्रस्ताव
मुख्यमंत्री पद (ढाई साल के लिए) पर शिवसेना के दावा छोड़ने से इनकार करने के बीच पार्टी के सांसद संजय राउत ने कहा है कि पार्टी सुप्रीमो उद्धव ठाकरे को भाजपा से अब तक कोई प्रस्ताव नहीं मिला है. सूत्रों ने बताया कि मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल दो दिनों में समाप्त हो रहा है और नए विधायकों को शपथ दिलाने के लिये अगले हफ्ते विधानसभा का तीन दिनों का एक विशेष सत्र बुलाया जा सकता है.
Loading...

जल्द खत्म हो सकता है BJP-शिवसेना का गतिरोध
उन्होंने बताया कि सरकार बनाने को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच गतिरोध का जल्द समाधान निकलने की उम्मीद है और निवर्तमान विधानसभा का कार्यकाल समाप्त होने से पहले नई सरकार का गठन हो सकता है. भाजपा और शिवसेना, दोनों दलों के सूत्रों ने बताया कि हिन्दुत्व विचारधारा रखने वाले दोनों पुराने सहयोगी दलों के बीच अनौपचारिक बातचीत जारी है और गतिरोध जल्द समाप्त होने की उम्मीद है.

CM पद पर कोई समझौता नहीं करेगी BJP
एक सूत्र ने न्यूज एजेंसी को बताया, ‘हमें उम्मीद है कि गतिरोध जल्द समाप्त हो जाएगा. अगर सब कुछ सही रहा, तो नौ नवंबर से पहले नई सरकार बन सकती है’ हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि भाजपा की ओर से शिवसेना को क्या पेशकश की गई है ताकि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी को संतुष्ट किया जा सके. भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने इस बात पर जोर दिया कि पार्टी मुख्यमंत्री पद को लेकर कोई समझौता नहीं करेगी.

ये भी पढ़ें: 

रामदास अठावले बोले- शिवसेना के पास BJP के अलावा सरकार बनाने का कोई विकल्प नहीं

पुणे: शिवसेना कार्यकर्ताओं ने बीमा कंपनी के कार्यालय में की तोड़फोड़

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 10:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...