अपना शहर चुनें

States

बढ़ते कोरोना मामलों के बीच महाराष्ट्र के अमरावती में पुलिस ने दिया 'सख्त संदेश'

कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर पुलिस पूरी तरह मुस्तैद हो गई है. (सांकेतिक तस्वीर PTI)
कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर पुलिस पूरी तरह मुस्तैद हो गई है. (सांकेतिक तस्वीर PTI)

जिले की पुलिस कमिश्नर आरती सिंह (Amravati Police Commissioner Aarti Singh) ने मंगलवार को लोगों को संदेश दिया है- 'मैं इस शहर के लोगों से निवेदन करती हूं कि अपने घरों के भीतर ही रहें. घर के बाहर बिना किसी जरूरी कारण के दिखने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 4:22 PM IST
  • Share this:
मुंबई. कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर महाराष्ट्र के अमरावती जिले (Maharashtra's Amravati) में एक बार फिर लॉकडाउन (Lockdown) लगा दिया गया है. जिले के दो हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों को लॉकडाउन नियमों की देखरेख के काम में लगाया गया है. जिले की सीमाओं को सील कर दिया गया है और मुख्य चौक-चौराहों पर विशेष चौकसी बरती जा रही है. जिले की पुलिस कमिश्नर आरती सिंह ने मंगलवार को लोगों को संदेश दिया है- 'मैं इस शहर के लोगों से निवेदन करती हूं कि अपने घरों के भीतर ही रहें. घर के बाहर बिना किसी जरूरी कारण के दिखने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.'

अमरावती के एक सप्ताह के लॉकडाउन के अलावा आस-पास के अन्य चार जिलों पर भी कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं. ये जिले हैं अकोला, वाशिम, बुल्ढाना और यवतमाल. यह जानकारी मंत्री यशोमति ठाकुर ने दी है. उन्होंने कहा है कि कोरोना के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए अमरावती में एक सप्ताह के लॉकडाउन की जरूरत थी. लॉकडाउन के दौरान मूलभूत जरूरतों की दुकानें छोड़कर अन्य सभी दुकानें और बाजार बंद रहेंगे. प्राइवेट इंस्टीट्यूट, प्राइवेट कोचिंग क्लासेज और ट्रेनिंग स्कूलों पर भी ये नियम प्रभावी होंगे. लोग अपनी रोजमर्रा की जरूरतों की चीजें सुबह 9 से शाम 5 के बीच ही खरीद सकेंगे.

पुणे में रात 11 से सुबह 6 बजे तक घूमने-फिरने पर है रोक
इसके अलावा पुणे में भी लोगों के घूमने फिरने पर रात 11 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक रोक रहेगी. हालांकि, इस दौरान जरूरी कामों से जुड़े लोग आवाजाही कर सकेंगे. यह जानकारी पुणे संभागीय आयुक्त ने दी. जिले में 28 फरवरी तक स्कूल-कॉलेज बंद रखने का फैसला लिया गया है. मंत्री विजय वडेट्टीवार ने बताया था कि अगर राज्य में मामले लगातार बढ़ते रहे, तो 12 घंटे का नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) लगाया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज