मुंबई में सुधर रहे हालात, कोरोना से ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से बेहतर
Mumbai News in Hindi

मुंबई में सुधर रहे हालात, कोरोना से ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से बेहतर
मुंबई में कोरोना से ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से बेहतर (सांकेतिक तस्वीर)

महाराष्ट्र (Maharashtra) मेडिकल एजुकेशन एंड ड्रग्स डिपार्टमेंट (MDD) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार मुंबई में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 24,307 थी जबकि 67,830 मरीज अब तक संक्रमण से ठीक हो चुके हैं.

  • Share this:
मुंबई. मुंबई (Mumbai) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों की संख्या एक लाख के करीब होने के बावजूद देश की वित्तीय राजधानी में ठीक होने की दर करीब 70 प्रतिशत है जो कि राष्ट्रीय औसत से सात प्रतिशत अधिक है. यह जानकारी आधिकारिक आंकड़े में सामने आयी है. पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) की ओर से शुक्रवार को जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया था कि (शुक्रवार तक) देश में कोविड-19 के मामले 3,42,756 थे और ठीक हुए मरीजों की संख्या करीब 6.35 लाख थी जो कि सामने आए मामलों का 63 प्रतिशत है.

मुंबई में ठीक होने की दर महाराष्ट्र (Maharashtra) से करीब 15 प्रतिशत अधिक है जो कि 55.62 प्रतिशत है. महाराष्ट्र मेडिकल एजुकेशन एंड ड्रग्स डिपार्टमेंट (एमईडीडी) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार मुंबई में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 24,307 थी जबकि 67,830 मरीज अब तक संक्रमण से ठीक हो चुके हैं. मुंबई में कोविड-19 से ठीक होने की दर जून के मध्य तक लगभग 50 प्रतिशत थी, जब बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए त्वरित कार्ययोजना के तहत ‘‘मिशन जीरो’’ शुरू किया था.

मुंबई में ठीक होने का प्रतिशत 70



पीआईबी के बयान में कहा गया है कि एक जुलाई को यह दर सुधरकर 57 प्रतिशत तक हुई और आगे 15 जुलाई को करीब 70 प्रतिशत हो गई. बीएमसी के अनुसार, शहर में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 98,979 हो गई, जबकि महामारी के कारण मरने वालों की संख्या 5,582 हो गई. इस शहर में लगभग 6.5 लाख की आबादी वाली एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी भी शामिल है, जो महानगर में कोविड-19 हॉटस्पॉट में से एक के तौर पर उभरी है. हालांकि, वहां शुक्रवार को केवल 102 उपचाराधीन मामले थे. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने धारावी में कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए किए गए प्रयासों की पिछले सप्ताह प्रशंसा की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज