Corona Warrior: पहले गलियों से कचरा उठाते थे, अब कोरोना के कीटाणु मारते हैं
Mumbai News in Hindi

Corona Warrior: पहले गलियों से कचरा उठाते थे, अब कोरोना के कीटाणु मारते हैं
कोरोना योद्धा सुंदर गायकवाड है पहले मुंबई की साफ सफाई और कचरा उठाने की गाड़ी पर काम करते थे

कोरोना योद्धा (Corona warrior) सुंदर गायकवाड है पहले मुंबई की साफ सफाई और कचरा उठाने की गाड़ी पर काम करते थे, लेकिन पिछले 3 महीने से कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए दवाई का छिड़काव करते हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
इन दिनों कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित शहर के तौर पर मुंबई (Mumbai) जाना जा रहा है, कोई ऐसा इलाका नहीं बचा होगा जहां पर कोरोना के मरीज नहीं मिल रहे हैं.  कई जगहों पर तो ये कम्युनिटी स्प्रेड के तौर पर फैल चुका है, तो कई जगहों पर कोरोना योद्धाओं के दिन-रात 3 महीने की मेहनत से कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने में काफी मदद मिली है.

ऐसे ही एक कोरोना योद्धा सुंदर गायकवाड है पहले मुंबई की साफ सफाई और कचरा उठाने की गाड़ी पर काम करते थे, लेकिन पिछले 3 महीने से सुंदर गायकवाड मुंबई के सबसे घनी बस्ती में से एक पोइसर में कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए दवाई का छिड़काव करते हैं. सुंदर बताते हैं कि पिछले 3 महीने में 100 से ज्यादा मामले अकेले पोइसर इलाके में आए जिसके बाद उन्हें डिसइफेक्ट करने की जिम्मेदारी दी गई. जब जिम्मेदारी मिली उनके परिवार वालों ने इस जिम्मेदारी को लेने से सुंदर को मना किया, लेकिन सुंदर गायकवाड ने परिवार वालों के सलाह को दरकिनार करते हुए यह जिम्मेदारी उठाई.

आज कई महीने से पोइसर की गलियों कॉमन बाथरूम और लोगों के बैठने वाली उन जगहों पर दवा का छिड़काव करते हैं, जहां से करोना का संक्रमण फैलने का खतरा सबसे ज्यादा होता है.  मुंबई के कांदीवली के उस इलाके में जहां से सुंदर गुजरते हैं लोग हाथ हिलाकर सुंदर का अभिवादन करते हैं. सुंदर पिछले 3 महीने से लगातार दिन-रात कोरोना संक्रमित इलाके में जाकर दवा का छिड़काव करते हैं. ताकि इलाके के दूसरे लोग सुरक्षित रह सकें.



अकेले सुंदर ही नहीं पूरी मुंबई में इस तरीके से हजारों कोरोना योद्धा जो दिन रात अपनी मेहनत से कई बेहद प्रभावित इलाकों में संक्रमण रोकने में के लिए काम कर रहे हैं. मुंबई सहित महाराष्ट्र भर में कोरोना का संक्रमण सबसे ज्यादा है.   अकेले मुंबई में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 46,000 के पार पहुंची चुकी है तो वहीं महाराष्ट्र भर में कोरोना संक्रमित मरीज करीब 75,000 के पार हो गए हैं.  इतने मरीजों के बाद भी महाराष्ट्र में उस तरीके का कम्युनिटी स्पेड नहीं हुआ है जिस तरीके से विदेशों में हुआ है तो इसका पूरा श्रेय सुंदर जैसे उन तमाम पूर्णा योद्धाओं को जाता है.



ये भी पढ़ें-

कोरोना: पूरे भारत के औसत से चार गुना ज्यादा है महाराष्ट्र के जलगांव की डेथ रेट

फर्जी खबरों पर मुंबई पुलिस का आदेश कानूनी तौर पर सही: महाराष्ट्र सरकार
First published: June 6, 2020, 6:32 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading