Mumbai Coronavirus: BMC के अस्पतालों में दो महीनों से नहीं है PPE किट्स और ग्लव्स

मुंबई के अस्पतालों में नहीं है पीपीई किट (तस्वीर- News18)
मुंबई के अस्पतालों में नहीं है पीपीई किट (तस्वीर- News18)

मुंबई के अस्पतालों में कोरोना वायरस का मुकाबला करने के लिए जरूरी चीजों की खरीद बीएमसी के केंद्रीय खरीद विभाग (सीपीडी) द्वारा खरीदा जाता है. जिस पर हाल ही में कोविड से जुड़े सामानों की खरीद में अनियमितताओं, गड़बड़ियों और देरी का आरोप लगाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 3:28 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) स्थित मुंबई में बृहन्मुंबई नगर पालिका (BMC) के अस्पतालों में डॉक्टरों के लिए पीपीई किट्स की भारी कमी है. बीते 2 महीने से कई अस्पतालों में किट्स नहीं है. इतना ही नहीं अस्पतालों पर दबाव है कि वह खुद इन किट्स की खरीद करें. किट, N95 मास्क, नाइट्राइल दस्ताने, एंटी-वायरल ड्रग रेमेडिसविर आदि की नियमित कमी ने कोरोना के खिलाफ BMC की लड़ाई को कमजोर कर दिया है. इन सभी जरूरी वस्तुओ को बीएमसी के केंद्रीय खरीद विभाग (सीपीडी) द्वारा खरीदा जाता है. जिस पर हाल ही में कोविड से जुड़े सामानों की खरीद में अनियमितताओं, गड़बड़ियों और देरी का आरोप लगाया गया है.

सितंबर में अस्पतालों के पास पीपीई  नहीं थे क्योंकि बीएमसी जुलाई से ही ऑर्डर नहीं दे पाई. तब अस्पतालों से अपनी किट खरीदने के लिए कहा गया था क्योंकि बीएमसी को  ऑर्डर देने में काफी टाइम लगता.बीएमसी को  उनके कोविड अस्पतालों और देखभाल केंद्रों में प्रति सप्ताह 1.25 लाख पीपीई किटों की जरूरत होती है और उनके स्टॉक खत्म हो गए है.

बीएमसी ने जून में पीपीई के लिए टेंडर मंगाए थे, जिसमें बताया गया था कि हर किट के लिए 207 रुपये का अतिरिक्त भुगतान कर रही है. रिपोर्ट सामने आने के बाद, अतिरिक्त नगर आयुक्त पी. वेलरासु ने आदेश दिया कि कोई नई खरीद नहीं की जाएगी. उन्होंने यह भी कहा कि मौजूदा स्टॉक समाप्त होने के बाद एक नया टेंडर मंगवाया जाएगा. बीएमसी  के  2.5 लाख किट खत्म हो गए. यह उसे CSR के तहत मिले थे.




फिलहाल टेंडरिंग आखिरी स्टेज में- BMC
सोमवार को वेलरासु ने कहा कि 'नई बिडस् जारी की गई हैं. प्राइस बिड्स मंगलवार को खोली जाएंगी और पर्चेज ऑर्डर (पीओ) इस सप्ताह में ही दिए जाएंगे. 10 सितंबर को एक टेंडर डारी किया गया था और 17 तारीख को बिड्स ओपन की गईं थीं. पीपीई किट के टेंडर को अंतिम रूप देने के लिए कम से कम 15-20 दिनों की आवश्यकता होती है.'

कहा कि 'फिलहाल टेंडरिंग आखिरी स्टेज में है और प्राइस बिडिंग खोली जाएगी. इस  हफ्ते ही खरीद के लिए रेट सर्कुलर जारी किया जाएगा. सीपीआर ने शनिवार और छुट्टियों पर भी काम किया है ताकि टेंडर को जल्द पूरा किया जा सके.'

वेलरासु ने कहा कि बीएमसी ने नाइट्राइल दस्ताने के लिए टेंडर जारी किया था जिसकी सप्लाई की शॉर्टेज है. कहा कि 'नाइट्राइल दस्ताने में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कुछ मुद्दे थे, इसलिए कोई बिडिंग नहीं लगी. हमने दस्ताने के लिए टेंडर मंगाए हैं, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं आई. इसलिए हमने इसे फिर से टेंडर मंगवाए हैं. मलेशिया में नाइट्राइल दस्ताने के निर्यात के साथ कुछ दिक्कतें थीं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज