महाराष्‍ट्र में अभी तक कोरोना की चपेट में 2211 पुलिसकर्मी, 25 ने गंवाई जान
Mumbai News in Hindi

महाराष्‍ट्र में अभी तक कोरोना की चपेट में 2211 पुलिसकर्मी, 25 ने गंवाई जान
मुंबई में गैस लीक की सूचना के बाद हड़कंप मच गया.

महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में 2211 कोविड-19 (COVID-19) संक्रमित पुलिसकर्मियों में से 249 पुलिस अधिकारी हैं जबकि 1,962 कांस्टेबुलरी रैंक के कर्मी हैं. इन सभी का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में कम से कम 2211 पुलिसकर्मी अभी तक कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाये गए हैं और उनमें से 25 संक्रमण से अपनी जान गंवा चुके हैं. यह जानकारी एक अधिकारी ने शुक्रवार को दी. अधिकारी ने कहा कि संक्रमण से जान गंवाने वाले कुल पुलिसकर्मियों में से 16 मुंबई से, तीन अन्य नासिक ग्रामीण से, दो पुणे और एक-एक सोलापुर शहर, सोलापुर ग्रामीण, ठाणे और मुंबई एटीएस से हैं.

2211 में 249 पुलिस अधिकारी
अधिकारी ने कहा कि इन कोविड-19 रोगियों में से 249 पुलिस अधिकारी जबकि 1,962 कांस्टेबुलरी रैंक के कर्मी हैं. उन्होंने कहा कि इन सभी का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है. अधिकारी ने कहा कि अभी तक इनमें से 970 ठीक हो चुके हैं.

उन्होंने कहा, 'कम से कम 116 कर्मी पिछले 24 घंटे में संक्रमित पाये गए. इस पूरे सप्ताह प्रतिदिन 100 से अधिक पुलिसकर्मियों का लगातार संक्रमित पाया जाना जारी है.' उन्होंने कहा कि कोविड-19 सेवा में लगे पुलिसकर्मियों या मेडिकल पेशेवरों पर हमले की कोई ताजा घटना सामने नहीं आयी है.



लॉकडाउन उल्‍लंघन के लिए 118488 केस दर्ज


अधिकारी ने कहा कि पूरे राज्य में लॉकडाउन आदेश के कथित उल्लंघन के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत कम से कम 1,18,488 अपराध दर्ज किये गए हैं जिसमें 23,511 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान सड़क पर चलने के लिए 76,076 वाहन जब्त किये हैं और विभिन्न अपराधों के लिए 5.79 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला गया है.

हर जिले में कोविड-19 जांच लैब स्थापित करना संभव नहीं : महाराष्ट्र सरकार
महाराष्ट्र सरकार ने शुक्रवार को बंबई उच्च न्यायालय से कहा कि राज्य के हर जिले में कोविड-19 जांच प्रयोगशाला (लैब) स्थापित करना व्यावहारिक रूप से संभव नहीं है. मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति के.के. ताटेड के समक्ष पेश किये गये एक 'नोट' में सरकार ने कहा कि अभी राज्य में 72 जांच केंद्र हैं.

शुरूआत में जब महामारी शुरू हुई थी, तब सिर्फ तीन जांच केंद्र-नागपुर, मुंबई और पुणे में एक-एक थे. अतिरिक्त सरकारी वकील मनीष पाबले ने अदालत से कहा, 'जांच प्रयोगशाला की संख्या अब बढ़ कर 72 हो गई है, जिनमें 42 प्रयोगशाला सरकारी अस्पतालों में हैं, जबकि शेष 33 निजी प्रयोगशाला हैं.'

पीठ खलील वास्ता नाम के एक मछुआरे की याचिका पर सुनवाई कर रही है, जिन्होंने गैर-रेड जोन जिलों में कोविड-19 संक्रमण की जांच के लिये विशेष प्रयोगशालाएं स्थापित करने को लेकर सरकार को निर्देश देने की मांग की थी. पीठ को शुक्रवार को पाबले ने बताया कि रत्नागिरि सदर अस्पताल में कोविड-19 संक्रमण की जांच के लिये एक प्रयोगशाला स्थापित की गई है.

ये भी पढ़ें:

ममता सरकार का बड़ा फैसला, बंगाल में दी सभी धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत

'रेलवे और राज्‍य सरकारें प्रवासी मजदूरों को निशुल्‍क भोजन-पानी मुहैया करा रहे'
First published: May 29, 2020, 6:18 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading