कोरोना पर लगाम के लिए BMC लाया अनोखा नियम- मास्क नहीं पहना तो लगानी पड़ेगी झाड़ू

पिछले दो दिनों (गुरुवार-शुक्रवार) में सौ से अधिक लोगों को फेस मास्क के बिना पकड़ा गया. इन लोगों ने 200 रुपए का जुर्माना भरने से इनकार कर दिया, जिसके बाद उन्हें झाड़ू सौंप दिए गए और शहर में सड़कों को साफ करने को कहा गया.
पिछले दो दिनों (गुरुवार-शुक्रवार) में सौ से अधिक लोगों को फेस मास्क के बिना पकड़ा गया. इन लोगों ने 200 रुपए का जुर्माना भरने से इनकार कर दिया, जिसके बाद उन्हें झाड़ू सौंप दिए गए और शहर में सड़कों को साफ करने को कहा गया.

पिछले दो दिनों (गुरुवार-शुक्रवार) में सौ से अधिक लोगों को फेस मास्क के बिना पकड़ा गया. इन लोगों ने 200 रुपए का जुर्माना भरने से इनकार कर दिया, जिसके बाद उन्हें झाड़ू सौंप दिए गए और शहर में सड़कों को साफ करने को कहा गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 2:10 PM IST
  • Share this:
मुंबई. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) का संकट देश से अभी भी टला नहीं है लेकिन बड़ी संख्या में लोगों ने लापरवाही शुरू कर दी है. कहीं लोग एक दूसरे से सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं तो कहीं मास्क नहीं लगा रहे हैं. अब मुंबई (Mumbai Coronavirus) की बृहन्मुंबई नगरपालिका (BMC) ने इसकी काट निकाल ली है. बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने चेतावनी दी है कि मास्क ना लगाने पर पकड़े जाने वाले अगर जुर्माना नहीं चुकाएंगे तो उन्हें शहर की सड़कों पर सजा के तौर पर झाड़ू लगानी होगी.

पिछले दो दिनों (गुरुवार-शुक्रवार) में सौ से अधिक लोगों को फेस मास्क के बिना पकड़ा गया. इन लोगों ने 200 रुपए का जुर्माना भरने से इनकार कर दिया, जिसके बाद उन्हें झाड़ू सौंप दिए गए और शहर में सड़कों को साफ करने को कहा गया.

दिलचस्प बात यह है कि बीएमसी ने शुक्रवार को कहा कि 212 दिनों में कड़ी कार्रवाई की गई थी. अप्रैल से इसने 3,49,34,800 रुपये की वसूली की थी, जिसमें अक्टूबर में केवल 18,21,400 रुपये शामिल थे. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे और अन्य नेताओं द्वारा बार-बार अपील किए जाने के बावजूद, कई मुंबईकरों ने चेतावनियों पर ध्यान नहीं दिया और अभी भी बिना फेस मास्क के गाड़ी चलाते या चलते हुए या चेहरे का मास्क ठीक से न पहने हुए देखे जा सकते हैं.



रोज कम से कम 20,000 मामले हों दर्ज
कोरोना के लगातार बढ़ते खतरे पर लगाम लगाने की उम्मीद में इस हफ्ते बीएमसी आयुक्त आईएस चहल ने सीविल टीमों द्वारा प्रतिदिन उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कम से कम 20,000 मामले दर्ज करने का लक्ष्य रखा गै.बीएमसी के एक अधिकारी ने कहा,   'राज्य सरकार और बीएमसी बार-बार लोगों से फेस मास्क पहनने के लिए अनुरोध कर रहे हैं, लेकिन कई प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे हैं, कुछ जुर्माना भरने से इनकार करते हैं और अन्य भुगतान करने में असमर्थ हैं. ऐसे में हमने इनसे झाड़ू लगवाने का फैसला किया है.


असिस्टेंट म्युनिसिपल कमिश्नर विश्वास मते ने कहा कि कुछ लोग पकड़े जाने पर अपनी गलती के लिए माफी मांगते हैं और यहां तक कि बीएमसी द्वारा दी गई वॉलंटियर सेवा को स्वीकार भी करते हैं. लेकिन कुछ लोग अधिकारियों के साथ बदसूलूकी करते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज