लाइव टीवी

महाराष्ट्र : बारिश से फसल बर्बाद, मराठवाड़ा में 4 दिन में 10 किसानों ने की आत्महत्या

News18Hindi
Updated: November 5, 2019, 11:13 PM IST
महाराष्ट्र : बारिश से फसल बर्बाद, मराठवाड़ा में 4 दिन में 10 किसानों ने की आत्महत्या
महाराष्ट्र (Maharashtra) के मराठवाड़ा (Marathwada) क्षेत्र में पिछले चार दिनों के दौरान किसानों (Farmers) द्वारा आत्महत्या (Suicide) के कम से कम 10 मामले सामने आए हैं.

महाराष्ट्र (Maharashtra) के मराठवाड़ा (Marathwada) क्षेत्र में पिछले चार दिनों के दौरान किसानों (Farmers) द्वारा आत्महत्या (Suicide) के कम से कम 10 मामले सामने आए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2019, 11:13 PM IST
  • Share this:
औरंगाबाद. महाराष्ट्र (Maharashtra) के मराठवाड़ा (Marathwada) क्षेत्र में पिछले चार दिनों के दौरान किसानों (Farmers) द्वारा आत्महत्या (Suicide) के कम से कम 10 मामले सामने आए हैं. यहां बेमौसम बारिश (Rain) के चलते फसल (Crops) को भारी नुकसान हुआ है. इन सभी मामलों में आत्महत्या की वजह अभी तक पता नहीं चली है. मध्य महाराष्ट्र के इस क्षेत्र में बेमौसम बारिश के चलते सोयाबीन, ज्वार, मक्का और कपास जैसी खरीफ की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है. नांदेड़ जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जिले में एक नवंबर से अब तक किसान आत्महत्या की तीन घटनाएं सामने आ चुकी हैं.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बीड जिले में पिछले तीन दिनों में दो किसानों ने आत्महत्या कर ली. उन्होंने बताया कि हम इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं कर सकते हैं कि ये मौत बारिश से फसल बर्बाद होने या कर्ज में डूबने के चलते हुई है या नहीं.

कर्ज में डूबने के चलते इन किसानों ने आत्महत्या की
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि लातूर जिले में किसान आत्महत्या की तीन घटनाएं दर्ज की गईं. ऐसा संदेह जताया जा रहा है कि बेमौसम बारिश से फसल बर्बाद होने और कर्ज में डूबने के चलते इन किसानों ने आत्महत्या की है. अधिकारियों ने बताया कि उस्मानाबाद और परभणी जिले में दो किसानों ने आत्महत्या की है, हालांकि इसकी वजह पता नहीं चल सकी है.

बारिश के चलते फसल हो गई थी बर्बाद
पुलिस ने बताया कि हिंगोली जिले के निवासी रामदास कराले (40) ने कथित रूप से आत्महत्या की कोशिश की, हालांकि वह बच गए और उनका इलाज चल रहा है. औरंगाबाद जिले के धनोरा के निवासी कृष्ण एकनाथ काकड़े (38) की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई. उनकी तैयार फसल बारिश के चलते बर्बाद हो गई थी. उनके परिवार ने बताया कि उन पर कर्ज का बोझ था और वह बेटी की शादी को लेकर चिंतित थे, जो अगले महीने होनी थी. इसी तरह कई अन्य किसानों की दिल का दौरा पड़ने से मौत की खबर है, जिनकी तैयार फसल बेमौसम बारिश से बर्बाद हो गई थी.

(एजेंसी इनपुट के साथ)
Loading...

ये भी पढ़ें:

बेमौसम बरसात से महाराष्ट्र के किसान बेहाल, कौन पोछेगा अन्नदाताओं के आंसू
महाराष्ट्र का महाभारत: सरकार गठन के मामले में अब गेंद शिवसेना के पाले में

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 9:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...