प्रेम दरयानानी ने फिर पेश की देशभक्ति की मिसाल, दान में दी सेना को 2 एकड़ जमीन

Abhishek Pandey | News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 3:46 PM IST
प्रेम दरयानानी ने फिर पेश की देशभक्ति की मिसाल, दान में दी सेना को 2 एकड़ जमीन
आर्मी के साथ प्रेम दरयानानी (फाइल फोटो)

इससे पहले साल 2018 में दरयानानी ट्रस्ट ने सेना को छह तैयार बिल्डिंग और 4 एकड़ जमीन दान में दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2019, 3:46 PM IST
  • Share this:
दक्षिण मुंबई के बुजुर्ग समाजसेवी और राधा कलिनदास दरयानिनी ट्रस्ट के प्रमुख प्रेम दरयानानी ने एक बार फिर से सेना के लिए अपनी मालिकाना जमीन देने की पहल की है. इस जमीन पर महाराष्ट्र में पहले और देश के दूसरे सेना लॉ कालेज का विस्तार होगा. सेना की सेवा का जूनून रखने वाले प्रेम दरयानानी ने ट्रस्ट के जरिए ये दूसरी बार जमीन दान में दी है. प्रेम दरयानिनी देश में सेना को व्यक्तिगत स्तर पर सबसे बड़े दान देने वाले व्यक्ति के तौर पर जाने जाते हैं. उन्होंने मार्च 2018 में सेना को पहला दान दिया था, जिसमें छह तैयार बिल्डिंग और 4 एकड़ जमीन शामिल थी. अब प्रेम फिर दो एकड़ जमीन दे रहे हैं. इस सब की कुल कीमत करीब 40 करोड़ रुपये मानी जा रही है.

इस जमीन और बिल्डिंग से सेना के लॉ कालेज का विस्तार होगा
इस जमीन और बिल्डिंग से सेना के लॉ कालेज का विस्तार होगा और दूसरे तथा तीसरे वर्ष के छात्रों को पढ़ाई का मौका मिलेगा. देश में सेना के लोगों के लिए दो ही लॉ कॉलेज है. पहला मोहाली चंडीगढ में कई साल पहले बना था, जबकि दरयानानी ट्रस्ट के सहयोग से दूसरा कॉलेज पूने के पास कान्हे गांव में बनाया गया है. इसके संचालन का पहला सफल वर्ष हो चुका है.

इस मौके पर दक्षिणी कमान के कई अफसर मौजूद थे.

लॉ कालेज के दूसरे चरण के भूमिपूजन का कार्यक्रम दक्षिणी कमान के कमांडर इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल एस के सैनी के हाथों संपन्र हुआ है. लेफ्टिनेंट जनरल को अब तक अतिविशिष्ट सेवा मेडल, युदध सेवा मेडल और विशिष्ट सेवा मेडल मिल चुका है. इस मौके पर दक्षिणी कमान के कई अफसर मौजूद थे. लेफ्टिनेंट जनरल सैनी ने इस मौके पर कहा कि सेना देश के लिए हमेशा तैयार रहती है और इस तरह आम लोगों के सेना के साथ जुड़ने से सेना का मनोबल कई गुना बढ़ जाता है. उन्होने सेना की मदद करने के लिए प्रेम दरयानानी और ट्रस्ट का धन्यवाद देते हुए कहा कि और भी लोगों को इस तरह आगे आना चाहिये.

वो अपनी जान की बाजी लगा देते हैं ताकि हम सुरक्षित रह सकें
राधा कलिनदास दरयानानी ट्रस्ट के प्रमुख प्रेम दरयानानी ने कहा कि इस दान का मुख्य मकसद देश के बाहरी और आंतरिक दुशमनों से निपटने के लिए अपनी जान की बाजी लगा देने वाली भारतीय सेना के प्रति कृतग्यता दिखाना है. भारतीय सेना के जवान हर खतरे का सामना करते हुए हमेशा सीमा पर चौकस रहते हैं. वो अपनी जान की बाजी लगा देते हैं ताकि हम सुरक्षित रह सकें. यहां तक जब भी देश पर किसी प्राकृतिक या मानवीय आपदा का संकट आता है तो वो हमेशा मदद के लिए तैयार रहते हैं.
Loading...

प्रेम दरयानानी मानते है कि देश के लिए बलिदान देने वाली भारतीय सेना का साहस अदम्य और अतुलनीय है. हम नागरिकों की भी जिम्मेदारी है कि हम उनके लिए योगदान करें. इसी भावना के तहत ही अब समय है कि हम आम जनमानस को इस बारे में जागरुक करें. ये हमारा कर्तव्य है कि हम सैनिकों और उनके परिवारों के साथ खड़े रहें.

ये भी पढ़ें- 

दोबारा सक्रिय राजनीति में आए कल्याण सिंह, कहा- अब चुनाव नहीं लडूंगा

भदोही में क्लास 3 की छात्रा ने टॉयलेट में खुद को लगाई आग, वाराणसी रेफ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 1:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...