दाऊद की दूसरी ड्रग्स फैक्ट्री ध्वस्त, सब्जी बेचने की आड़ में चल रहा था नशे का कारोबार

इस ड्रग्स फैक्ट्री को दाऊद के दो गुर्गे चला रहे थे.  (फोटो- News18)

इस ड्रग्स फैक्ट्री को दाऊद के दो गुर्गे चला रहे थे. (फोटो- News18)

NCB ने डोंगरी इलाके में दाऊद की दूसरी ड्रग्स फैक्ट्री को ध्वस्त कर दिया है. दाऊद (Dawood Ibrahim) की इस ड्रग्स फैक्ट्री को उसके खास गुर्गे यूसुफ चिकना के दो बेटे चला रहे थे. NCB के आला अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक दाऊद की इस फैक्ट्री से साउथ मुंबई के कई इलाकों में ड्रग्स की सप्लाई की जा रही थी.

  • Last Updated: March 26, 2021, 6:47 PM IST
  • Share this:
मुंबई. अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) के नशे के कारोबार पर मुंबई नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने बड़ी कार्रवाई की है. NCB ने डोंगरी इलाके में दाऊद की दूसरी ड्रग्स फैक्ट्री को ध्वस्त कर दिया है. दाऊद की इस ड्रग्स फैक्ट्री को उसके खास गुर्गे यूसुफ चिकना के दो बेटे चला रहे थे. NCB के आला अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक दाऊद की इस फैक्ट्री से साउथ मुंबई के कई इलाकों में ड्रग्स की सप्लाई की जा रही थी.

दरअसल अंडरवर्ल्ड ड्रग्स कनेक्शन मामले की जांच कर रही NCB की टीम को यह जानकारी मिली कि डोंगरी इलाके में एक ड्रग्स फैक्ट्री से बड़ी मात्रा में सप्लाई की जा रही है. जानकारी मिलने के बाद NCB ने एक टीम का गठन किया, जिसका नेतृत्व खुद जॉइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े कर रहे थे. बीती रात करीब 10 बजे NCB की टीम ने दाऊद की इस ड्रग्स फैक्ट्री पर छापा मारा और काफी मात्रा में ड्रग्स बरामद की.

Youtube Video


यूसुफ चिकना के दोनों बेटे फरार
NCB की इस छापेमारी की जानकारी किसी गुर्गे ने इसको संभालने वाले दाऊद के खास गुर्गे यूसुफ चिकना के बेटे दानिश चिकना को दे दी और NCB के उसके घर पर छापा मारने से पहले वह फरार हो गया. इस छापेमारी में दानिश और राजिक चिकना के लिए काम करने वाले ड्रग्स पैडलर रफीक सहित कई लोगों को एनसीबी ने गिरफ्तार किया है और चिकना भाइयों को तलाश कर रही है.

दानिश और राजिक को NCB ने जारी किया समन

मुंबई NCB के जॉइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने बताया कि डोंगरी में ड्रग्स की सप्लाई संगठित तरीके से होने की जानकारी मिलने के बाद छापा मारा गया और करीब 15 घंटे तक छापेमारी चली. इस दौरान ड्रग्स फैक्ट्री को संभालने वाले लोग फरार होने में कामयाब हो गए, उनकी तलाश जारी है. फरार हुए दानिश और राजिक चिकना को NCB ने समन जारी करते हुए कल सामने पेश होने को कहा है. चिकना भाइयों की तलाश में दबिश दी जा रही है.



सामने आई चौंकाने वाली जानकारी

NCB की अब तक की जांच में बेहद चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है. एनसीबी सूत्रों के मुताबिक दाऊद की इस ड्रग्स फैक्ट्री के गेट को छुपाने के लिए बड़े टेम्पो का सहारा लिया गया था. उस टेम्पो में सब्जी की दुकान लगाई गई थी, ताकि लोगों को लगे कि सब्जी बेची जा रही है, जबकि उसकी आड़ में ड्रग्स बेची जाती थी. जो लोग ड्रग्स खरीद कर वही उसे कंज्यूम करते थे, उन्हें बाकायदा सीक्रेट दरवाजे से बगल के ग्राउंड में भेज दिया जाता था.

एनसीबी सूत्रों के मुताबिक यह ड्रग्स फैक्ट्री दाऊद की ही है, जिसे पहले इसे यूसुफ चिकना चलाता था और उसके बाद अब उसके दोनों बेटे चला रहे थे. डी कंपनी इस फैक्ट्री को मॉनिटर करती थी. डी कंपनी के कहने पर ही इस ड्रग्स फैक्ट्री से अलग-अलग जगहों पर ड्रग्स की सप्लाई की जाती थी. एनसीबी सूत्रों की मानें तो राजिक चिकना के अच्छे पॉलिटिकल कनेक्शन भी हैं. जॉइंट डायरेक्टर वानखेड़े ने बताया कि इस ड्रग्स फैक्ट्री से हर महीने करोड़ों की ड्रग्स की सप्लाई की जाती थी. इस मामले में हम डी कंपनी की भूमिका की जांच कर रहे हैं और कुछ सामने आता है तो जरूर खुलासा करेंगे.

एनसीबी के मुताबिक राजिक और दानिश चिकना की दाऊद के दूसरे गुर्गे चिंकू पठान के साथ दुश्मनी है, हालांकि दोनों को डी कंपनी ही मॉनिटर करती है. कुछ महीने पहले ही NCB ने डोंगरी इलाके में ही दाऊद की ही एक अन्य ड्रग्स फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए चिंकू पठान और आरिफ भुजवाला को गिरफ्तार किया था. इस ड्रग्स फैक्ट्री से भी करोड़ों की ड्रग्स सप्लाई होती थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज