बाढ़ प्रभावित पांच राज्यों में मरने वालों की संख्या 241 हुई

News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 11:37 PM IST
बाढ़ प्रभावित पांच राज्यों में मरने वालों की संख्या 241 हुई
केरल में वर्षाजनित घटनाओं में अब तक 111 लोगों, मध्यप्रदेश में 70, महाराष्ट्र में 54, राजस्थान में पांच लोगों और आंध्रप्रदेश में एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है.

केरल में सात और शव मिलने तथा राजस्थान में पांच व्यक्तियों की जान जाने के साथ ही पांच बाढ़ प्रभावित राज्यों में मरने वालों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 241 हो गयी. वैसे बाढ़ से सबसे अधिक प्रभावित केरल के कई हिस्सों में पानी घटने लगा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 16, 2019, 11:37 PM IST
  • Share this:
केरल में सात और शव मिलने तथा राजस्थान में पांच व्यक्तियों की जान जाने के साथ ही पांच बाढ़ प्रभावित राज्यों में मरने वालों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 241 हो गयी. वैसे बाढ़ से सबसे अधिक प्रभावित केरल के कई हिस्सों में पानी घटने लगा है.

4,000 से अधिक लोग राहत शिविरों में
आंध्रप्रदेश में गुंटूर और कृष्णा जिलों में 4,000 से अधिक लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया. राज्य में कृष्णा नदी उफान पर है जिससे बाढ़ आ गयी है और सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है. बाढ़ प्रभावित पश्चिमी महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश में मौसम में सुधार हुआ जिससे प्रशासन ने बचाव एवं राहत कार्य तेज कर दिया.

केरल में वर्षाजनित घटनाओं में अब तक 111 लोगों, मध्यप्रदेश में 70, महाराष्ट्र में 54, राजस्थान में पांच लोगों और आंध्रप्रदेश में एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है. मौसम विभाग के अनुसार राजस्थान में जोधपुर, नागौर और पाली के लिए अगले 24 घंटे के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है.

एक अधिकारी ने बताया कि सेना को चौकस रहने को कहा गया है क्योंकि कोटा, बारन, भीलवाड़ा, झालावाड और बूंदी जिलों में बृहस्पतिवार से 160 मिलीमीटर से अधिक वर्षा दर्ज की गयी है. जिला आपदा, सहयोग और नागरिक सुरक्षा विभाग के सचिव आशुतोष ए टी पेढेणकर ने बताया कि तीन जिलों में वर्षा जनित घटनाओं में पांच लोगों की जान चली गयी.

हिमाचल में अलर्ट
मौसम विभाग ने इस सप्ताहांत में भारी बारिश को लेकर हिमाचल प्रदेश के कई जिलों के लिए लाल चेतावनी और पूरे राज्य के लिए नारंगी चेतावनी जारी की. शिमला मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि राज्य में 17 और 18 अगस्त को ज्यादातर स्थानों पर भारी से अति भारी वर्षा हो सकती है.
Loading...

उन्होंने कहा कि 17 और 18 अगस्त को मध्यम से भारी वर्षा के चलते खासकर चंबा, कुल्लू, लाहौल स्पीति, कांगड़ा, मंडी और शिमला जिलों में रास्ते बाधित हो सकते हैं. इस बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हल्की वर्षा से दिल्लीवासियों को उमस से राहत मिली.

मौसम विज्ञानी ने शनिवार को आसमान में बादल छाये रहने तथा हल्की से भारी बारिश होने, गरज के साथ बौछारे पड़ने एवं तेज बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया है. आंध्रप्रदेशम में विजयवाड़ा में कृष्णा नदी पर प्रकाशम बैराज पर दूसरी चेतावनी जारी की गयी है. बैराज में सात लाख क्यूसेक से अधिक पानी है.

केरल में वर्षा से थोड़ी राहत 
डोवालेश्वरम के सर आर्थर कॉटन बैराज से सात लाख क्यूसेक से अधिक पानी प्रवाहित होने के कारण गोदावरी नदी में शुक्रवार को फिर उफान आ गया. केरल में वर्षा से थोड़ी राहत मिली. मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि 31 लोग अब भी लापता है और 1.47 लाख से अधिक लोग राहत शिविरों में हैं. महाराष्ट्र के सांगली और कोल्हापुर जिलों में बाढ़ के दौरान सात लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया. जनजीवन सामान्य होने लगा है क्योंकि कृष्णा और पंचगंगा नदियां खतरे के निशान से नीचे बह रही हैं.
ये भी पढ़ें:

J&K: हिरासत में लिए गए लोगों को रखने के लिए अब जगह ही नहीं!

BMC के पास 58,000 करोड़, फिर भी मुंबई में हर साल आती है बाढ़: नितिन गडकरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 11:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...