लाइव टीवी

CAB को लेकर फडणवीस का शिवसेना पर तंज, कहा- सत्ता के लालच में विचारधारा से किया समझौता

News18Hindi
Updated: December 12, 2019, 11:22 AM IST
CAB को लेकर फडणवीस का शिवसेना पर तंज, कहा- सत्ता के लालच में विचारधारा से किया समझौता
CAB को लेकर फड़णवीस ने कहा, शिवसेना ने सत्ता के लालच में विचारधारा से समझौता किया

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा कि उन्हें शिवसेना (Shiv Sena) पर तरस आ रहा है, जिसने सत्ता के लालच में विचारधारा से समझौता किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2019, 11:22 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने  नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) को राज्यसभा से मंजूरी मिलने पर खुशी जताते हुए शिवसेना पर तंज कसा है. फडणवीस ने कहा कि उन्हें शिवसेना (Shiv Sena) पर तरस आ रहा है, जिसने सत्ता के लालच में विचारधारा से समझौता किया.

बता दें कि शिवसेना (Shiv Sena) ने लोकसभा में इस विधेयक को समर्थन दिया था, लेकिन राज्यसभा में इसपर मतदान नहीं किया. शिवसेना ने सीएबी में कुछ सुधार की बात कही थी. शिवसेना ने संजय राउत ने कहा था कि इस विधेयक पर धार्मिकता के आधार पर नहीं बल्कि मानवता के आधार पर विचार होना चाहिए.

शिवसेना ने बिल पर उठाए थे सवाल
राउत ने कहा था कि हम मानते हैं कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान एवं बांग्लादेश में हिंदू, ईसाई, बौद्ध आदि अल्पसंख्यकों पर अत्याचार होता है. उन्हें मानवता के आधार पर शरण दी जानी चाहिए. लेकिन उसमें कोई राजनीति नहीं की जानी चाहिए. शिवसेना नेता ने सलाह दी कि जिन भी शरणार्थी लोगों को नागरिकता दी जाए, उन्हें 20-25 साल तक वोट डालने का अधिकार नहीं दिया जाना चाहिए.

राज्यसभा में बिल के समर्थन में पड़े 125 मत
राज्यसभा (Rajya Sabha) ने बुधवार को विस्तृत चर्चा के बाद इस विधेयक को पारित कर दिया. सदन ने विधेयक को प्रवर समिति में भेजे जाने के विपक्ष के प्रस्ताव और संशोधनों को खारिज कर दिया. विधेयक के पक्ष में 125 मत पड़े जबकि 105 सदस्यों ने इसके खिलाफ मतदान किया.

गौरतलब है कि शिवसेना ने हाल ही में बीजेपी से गठबंधन तोड़ कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाई है. महाराष्ट्र की सियासत में ये पहली बार हुआ है जब ठाकरे परिवार से कोई सीएम बना है.ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 11:13 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर