महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: 40 विधायकों का टिकट काट सकते हैं CM फडणवीस

कुछ महीने बाद ही महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव होने हैं. इसके लिए सत्ताधारी दल बीजेपी और शिवसेना समेत सभी दलों ने तैयारी भी शुरू कर दी है.

Abhishek Pandey | News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 3:19 PM IST
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: 40 विधायकों का टिकट काट सकते हैं CM फडणवीस
सूत्रों की माने तो इस विधानसभा चुनाव में सीएम फडणवीस 40 से 50 वर्तमान विधायकों का टिकट काट सकते हैं. (फाइल फोटो)
Abhishek Pandey | News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 3:19 PM IST
कुछ ही महीने बाद महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव होने हैं. इसके लिए सभी दलों ने तैयारी भी शुरू कर दी हैं. वहीं सत्ताधारी दल बीजेपी के विधायक आलाकमान के पास टिकट न काटने की गुहार लेकर पहुंचने लगे हैं. सूत्रों की मानें तो महाराष्ट्र सीएम देवेंद्र फडणवीस इस बार करीब 40 से 50 वर्तमान विधायकों का पत्ता काट सकते हैं, जिसमें सहयोगी दलों के कोटे की सीटें भी हो सकती हैं.

मुंबई में शिव संग्राम पार्टी के हिस्से में आई वर्सोवा सीट पर सबकी निगाहें हैं, क्‍योंकि पिछले दिनों पंकजा मुंडे के साथ विनायक मेटे के हुए मनमुटाव के बाद मुंबई की इस सीट से बीजेपी अपने ही किसी उम्मीदवार को लड़ा सकती है. वर्तमान में समय इस सीट से शिव संग्राम पार्टी की नेता भारती लवेकर बीजेपी के चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ी थी और यहां से विधायक बनी थी.

छोटे सहयोगी दल अपने चिन्ह पर लड़ेंगे चुनाव
इस बार विनायक मेटे और महादेव जानकर जैसे छोटे सहयोगियों ने साफ कर दिया है कि वो अपनी पार्टी के ही चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ेंगे. सूत्रों की मानें तो पंकजा मुंडे को लोकसभा चुनाव के दौरान सहयोग न देने के कारण वे इस बार विनायक मेटे का चुनावी गणित खराब कर सकती हैं. चर्चा चल रही है कि इस सीट से बीजेपी प्रदेश सचिव संजय पांडेय को अपना उम्मीदवार बना सकती है. हांलाकि, कई और नाम भी इस रेस में हैं, लकिन संजय के ज्यादा सक्रिय होने से लोग मानने लगे हैं कि आलाकमान ने उन्हें विधानसभा में सक्रिय होने के संकेत दे दिए हैं.

135-135 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है बीजेपी और शिवसेना
ऐसे ही कई और सीट हैं जहां पर विधायकों का परफॉर्मेंस सही न होने के कारण बीजेपी उनका टिकट काट सकती है और उनकी जगह नए चेहरों को मौका दे सकती है. बीजेपी और शिवसेना इस बार 135-135 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है और 18 सीटें सहयोगी दलों के लिए छोड़ सकती है. साथ ही करीब 20 सीटें बीजेपी और शिवसेना एक दूसरे से बदल सकती हैं.

ये भी पढ़ें-
Loading...

लिवइन पार्टनर ने की मॉडल की हत्या, सिर कुचल हाईवे पर फेंका

'किसानों की चिंता होती तो BJP सरकार से बाहर होती शिवसेना'
First published: July 15, 2019, 1:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...