लाइव टीवी

फडणवीस ने बताया BJP ने क्यों वापस लिया स्पीकर पद के उम्‍मीदवार का नाम?

News18Hindi
Updated: December 1, 2019, 1:48 PM IST
फडणवीस ने बताया BJP ने क्यों वापस लिया स्पीकर पद के उम्‍मीदवार का नाम?
नाना पटोले को स्पीकर चुने जाने पर देवेंद्र फडणवीस ने किया स्वागत. (फाइल फोटो)

देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में महाराष्‍ट्र विधानसभा की परंपरा का हवाला दिया गया, जिसके बाद उन्‍होंने अपना उम्‍मीदवार वापस ले लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2019, 1:48 PM IST
  • Share this:
मुंबई. कांग्रेस (Congress) उम्मीदवार नाना पटोले महाराष्ट्र विधानसभा के नए अध्यक्ष चुने गए हैं. बीजेपी की ओर से किसन शंकर कथोरे का नाम वापस लिए जाने के बाद नाना पटोले (Nana Patole) इस पद के लिए निर्विरोध चुन लिए गए. पटोले के स्पीकर चुने जाने पर पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उन्‍हें बधाई दी. उन्होंने कहा कि नाना पटोले से हमारे पुराने संबंध हैं, हमें उम्मीद है कि वह इस पद पर सभी को न्याय देंगे. सदन में बोलते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि हमने विधानसभा स्पीकर पद के लिए किसन शंकर कथोरे को उम्‍मीदवार बनाया था, लेकिन सर्वदलीय बैठक में प्रोटेम स्पीकर समेत अन्य दलों ने हमसे अनुरोध किया कि महाराष्‍ट्र में स्‍पीकर का चुनाव निर्विरोध होता रहा है, ऐसे में हमलोगों ने प्रदेश की परंपरा को बरकरार रखते हुए अपने उम्मीदवार का नाम वापस ले लिया.

'नाना पटोले से हमारे पुराने संबंध'
फडणवीस ने कहा, ‘मैं सदन में विरोधी पक्ष की तरफ से अध्यक्ष महोदय (नाना पटोले) का स्वागत करता हूं.’ उन्होंने स्पीकर नाना पटोले से कहा कि हमारा और आपका संबंध पुराना है. साथ ही फडणवीस ने चुटकी लेते हुए कहा कि हमें उम्मीद थी कि मंत्रिमंडल में आपको (नाना पटोले) कृषि मंत्री बनाया जाएगा, लेकिन आप जिस पद पर काम करते हैं वहां न्याय ही करते हैं.’

‘नाना पटोले भी एक किसान परिवार से आए’

विधानसभा में कांग्रेस नेता नाना पटोले के अध्यक्ष चुने जाने पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि नाना पटोले भी एक किसान परिवार से आते हैं, ऐसे में मुझे पूरा विश्वास है कि वह सभी को न्याय दिलाएंगे.



उद्धव सरकार ने आसानी से हासिल किया बहुमत
महाराष्ट्र की शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की गठबंधन सरकार ने शानिवार को अपना बहुमत साबित किया था. शनिवार दोपहर ढाई बजे विधानसभा में प्रोटेम स्पीकर दिलीप वलसे पाटिल की मौजूदगी में फ्लोर टेस्ट करवाया गया, जिसमें उद्धव सरकार के पक्ष में 169 मत पड़े. वहीं, सदन में मौजूद अन्य दलों के चार विधायक वोटिंग के दौरान तटस्थ रहे यानी उन्होंने न तो सरकार के पक्ष और न ही उसके विरोध में वोट किया.

ये भी पढ़ें-

महाराष्ट्र: स्पीकर चुने जाने के बाद सदन को संबोधित करेंगे राज्यपाल कोश्यारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 12:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...