• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • दिवाली पर दरियादिली से सुर्खियां बटोरने वाले हीरा व्यापारी सावजी ढोलकिया ने मुंबई में खरीदा 185 करोड़ का बंगला

दिवाली पर दरियादिली से सुर्खियां बटोरने वाले हीरा व्यापारी सावजी ढोलकिया ने मुंबई में खरीदा 185 करोड़ का बंगला

इस बिल्डिंग में कुल 15 अपार्टमेंट है. उन्होंने ये सौदा Essar ग्रुप से किया है. (सांकेतिक तस्वीर)

इस बिल्डिंग में कुल 15 अपार्टमेंट है. उन्होंने ये सौदा Essar ग्रुप से किया है. (सांकेतिक तस्वीर)

Ghanshyambhai Dhanjibhai Dholakia: 1991 में एक करोड़ की हुई कंपनी-ढोलकिया की हरि कृष्ण डायमंड नाम की कंपनी का कारोबार 1991 में मात्र एक करोड़ का था तो मार्च 2014 तक 2100 करोड़ तक पहुंचा है और इसके बाद 3000 करोड़ के आंकड़े को पार कर गया.

  • Share this:

    मुंबई. सूरत के डायमंड किंग सावजी भाई ढोलकिया (Ghanshyam Dholakia)  एक बार फिर से सुर्खियों में है. वजह है मुंबई की वो बिल्डिंग जिसे उनके परिवार ने 185 करोड़ में खरीदा है. 20 हज़ार वर्गफीट के इस आलिशान बिल्डिंग को सावजी भाई ढोलकिया के छोटे भाई घनश्याम ढोलकिया के नाम पर रजिस्टर्ड किया गया है. इस बिल्डिंग में कुल 15 अपार्टमेंट है. उन्होंने ये सौदा Essar ग्रुप से किया है.

    दिवाली के मौके पर अपने कर्मचारियों को शानदार उपहार देकर सुर्खियां बटोरने वाले ढोलकिया ने मीडिया को बताया, ‘हमे अपने स्टाफ और उनके परिवार के सदस्यों को रखने के लिए कुछ प्रॉपर्टी की तलाश थी. हमने इसे एस्सार से खरीदा है और ये ऐसे स्थान पर है जहां से हमारा ऑफिस आसानी से पहुंचा जा सकता है. हमारी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट सांताक्रूज इलेक्ट्रॉनिक निर्यात क्षेत्र (सीप्ज़) एसईजेड और बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में ऑफिस है. हमारे पास पहले से ही मुंबई में कुछ आवासीय संपत्तियां हैं. लेकिन इस प्रॉपर्टी में ज्यादा कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्य रह सकते हैं.’

    ये भी पढ़ें:- ये भी पढ़ें:- BJP के मंत्री सम्राट चौधरी बोले- बिहार में गठबंधन की सरकार चलाना काफी मुश्किल

    सावजी भाई ढोलकिया का जन्म गुजरात के अमरेली जिले के एक छोटे से गांव में हुआ था. ढोलकिया का मन पढ़ने में नहीं लगता था. 13 साल की उम्र में ही सावजी सूरत भाग गए और एक छोटी से फैक्ट्री में काम करने लगे. 10 साल हीरा घिसने का किया काम-सावजी के मुताबिक, उन्होंने करीब 10 साल तक हीरा घिसने का काम किया और इसके बारे में काफी अनुभव हुआ तो अपने घर में कुछ दोस्तों के साथ हीरा घिसने का काम शुरू किया, जो धीरे-धीरे आगे बढ़ने लगा.

    1991 में एक करोड़ की हुई कंपनी-ढोलकिया की हरि कृष्ण डायमंड नाम की कंपनी का कारोबार 1991 में मात्र एक करोड़ का था तो मार्च 2014 तक 2100 करोड़ तक पहुंचा है और इसके बाद 3000 करोड़ के आंकड़े को पार कर गया. ढोलकिया के अनुसार उनकी कंपनी अभी 50 देशों के ल‌िए ही हीरा सप्लाई करती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज