लाइव टीवी

मुंबई: नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ के मामले में DIG निशिकांत मोरे निलंबित
Mumbai News in Hindi

News18Hindi
Updated: January 9, 2020, 9:39 PM IST
मुंबई: नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ के मामले में DIG निशिकांत मोरे निलंबित
मामला नवी मुंबई का है. (प्रतीकात्मक फोटो)

नवी मुंबई में नाबालिग लड़की (Minor Girl) से छेड़छाड़ और उसके गायब होने के मामले में डीआईजी निशिकांत मोरे (Nishikant More) को निलंबित कर दिया गया. महाराष्ट्र (Maharashtra) के डीजीपी ने निलंबन का आदेश जारी किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 9, 2020, 9:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नवी मुंबई में नाबालिग लड़की (Minor Girl) से छेड़छाड़ और उसके गायब होने के मामले में डीआईजी निशिकांत मोरे (Nishikant More) को निलंबित कर दिया गया. महाराष्ट्र में नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ के आरोपी भगोड़े पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) निशिकांत मोरे को गुरुवार को प्रदेश सरकार ने निलंबित कर दिया. यह जानकारी गृह मंत्री अनिल देशमुख ने दी. उप महानिरीक्षक (मोटर वाहन) के तौर पर तैनात मोरे के खिलाफ कार्रवाई उनके खिलाफ छेड़छाड़ का मामला दर्ज होने के दो हफ्ते बाद आया है. निकटवर्ती नवी मुंबई के तालोजा पुलिस ने यह मामला दर्ज किया था.

डीजीपी की रिपोर्ट पर लिया गया फैसला
देशमुख ने कहा कि प्रदेश के पुलिस महानिदेशक द्वारा दी गई रिपोर्ट के बाद यह फैसला लिया गया. डीजीपी ने वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की अनुशंसा की थी. डीआईजी अभी फरार चल रहे है. डीआईजी पर एक नाबालिग लड़की ने बर्थ-डे पार्टी के दौरान छेड़छाड़ का आरोप लगाया था.

जून महीने की बताई जा रही है घटना



पीड़िता ने तलोजा पुलिस स्टेशन में इसकी शिकायत दर्ज कराई थी. घटना पिछले साल के जून महीने की बताई जा रही है. पीड़िता ने डीआईजी निशिकांत मोरे पर आरोप लगाया था कि 5 जुन को एक बर्थ-डे पार्टी के दौरान ऐसी घटना हुई थी. बताया जा रहा है कि आरोप लगाने वाली लड़की डीआईजी के दोस्त की बेटी है. इस मामले में आरोपी डीआईजी मोरे के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और भारतीय दंड संहिता की धारा 354(ए) (1) (आई) , 506 के अंतर्गत एफआईआर दर्ज की गई थी.

6 महीने पहले की है घटना
बताया जा रहा है कि नाबालिग के साथ इस आईपीएस अधिकारी ने 6 महीने पहले इस वारदात को अंजाम दिया था. नाबालिग किशोरी की उम्र 17 साल बताई जा रही है. आईपीएस अधिकारी निशिकांत मोरे उप महानिरीक्षक (मोटर परिवहन) के पद पर तैनात थे. इस मामले में पुलिस पर भी शिकायत दर्ज करने में देरी का आरोप लगा था. पुलिस पर आरोपी को बचाने का भी आरोप लगा था.

लड़की की जन्मदिन की पार्टी में बिन बुलाए पहुंचा था अधिकारी
पीड़िता के परिजन ने बताया कि डीआईजी मोरे साल 2019 के 5 जून को युवती के जन्मदिन की पार्टी में बिना बुलाए पहुंच गए थे. यहां पर उन्होंने शराब भी मांगी और फिर नशे में किशोरी के साथ कथित तौर पर अश्लील हरकत की. इस पूरी घटना को उस दौरान मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया गया. बताया जा रहा है कि इस वीडियो क्‍लिप के आधार पर पुलिस ने मोरे के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

पुलिस पर मोरे को बचाने का लगा आरोप
पीड़िता के परिवार ने आरोप लगाया कि वे वारदात के बाद से ही मोरे के ‌खिलाफ मामला दर्ज करवाने की मांग कर रहे थे लेकिन पुलिस शिकायत नहीं दर्ज कर रही थी. परिजनों ने पुलिस पर आरोपी को बचाने का आरोप लगाया था.

(इनपुट भाषा से भी)

ये भी पढ़ें: 

महाराष्ट्रः IPS अधिकारी ने किया नाबालिग का यौन शोषण, परिजन का आरोप- 6 महीने से शिकायत दर्ज नहीं कर रही थी पुलिस

दाऊद इब्राहिम के करीबी रहे गैंगस्टर एजाज लकड़वाला को मुंबई पुलिस ने पटना से दबोचा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 9, 2020, 6:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर