लाइव टीवी

नागरिकता संशोधन विधेयक पर शिवसेना की भूमिका स्पष्ट, हमारी मांगों पर विचार करे सरकार: एकनाथ शिंदे

News18Hindi
Updated: December 11, 2019, 4:48 PM IST
नागरिकता संशोधन विधेयक पर शिवसेना की भूमिका स्पष्ट, हमारी मांगों पर विचार करे सरकार: एकनाथ शिंदे
एकनाथ शिंदे (File Photo)

नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship amendment bill 2019) को लेकर एकनाथ शिंदे ने कहा कि शिवसेना की भूमिका स्पष्ट है, हमारी कुछ शर्तें हैं. सरकार को उनपर विचार करना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2019, 4:48 PM IST
  • Share this:
मुंबई. शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship amendment bill 2019) पर शिवसेना की भूमिका स्पष्ट है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी की विचारधारा अलग है. महाराष्ट्र में तीनों कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत एकठ्ठा हुए हैं. एकनाथ शिंदे ने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर हमारी कुछ मांग हैं, इसमें कुछ त्रुटियां है, उस पर सरकार को सोचना चाहिए.

एकनाथ शिंदे ने कहा कि उद्धव ठाकरे और शिवसेना के सीनियर नेता इस पर फैसला करेंगे. हमारे बीच में मतभेद नहीं है. हम सब साथ हैं. उन्होंने बताया कि बाल ठाकरे के नाम पर समृद्धि महामार्ग का नाम रखने का सुझाव कैबिनेट में दिया है, जिसे दूसरे मंत्रियों ने सपोर्ट किया. जल्दी ही उस पर फैसला हो जाएगा.

लोकसभा में शिवसेना ने किया था समर्थन
बतादें, महाराष्‍ट्र में मुख्‍यमंत्री पद के लिए बीजेपी से अलग हुई शिवसेना ने लोकसभा में सोमवार को नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 का समर्थन किया था. यह विधेयक पाकिस्‍तान, बांग्‍लादेश और अफगानिस्‍तान के गैर-मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता (Indian Citizenship) प्राप्‍त करने की छूट देता है. लोकसभा में सोमवार को विधेयक 80 के मुकाबले 311 मतों से पारित हो गया.

नागरिकता संशोधन विधेयक पर शिवसेना के समर्थन पर कांग्रेस नाराज
लोकसभा में शिवसेना ने नागरिकता संशोधन विधेयक का समर्थन करने पर कांग्रेस ने नाराजगी जाहिर की थी. कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता बालासाहेब थोराट ने कहा था कि शिवसेना को संविधान और महाविकास आघाड़ी के न्‍यूनतम साझा कार्यक्रम के मुताबिक व्‍यवहार करना चाहिए. वहीं कांग्रेस नेता नसीम खान ने शिवसेना को विधेयक का समर्थन करने से पहले अपने सहयोगी दलों को विश्‍वास में लेने की बात कही थी. उन्होंने कहा था कि शिवसेना का यह कदम अनैतिक, असंवैधानिक और न्‍यूनतम साझा कार्यक्रम (CMP) के खिलाफ है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 4:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर