लाइव टीवी

शिवाजी की मोदी से तुलना करने वाली किताब पर रुख स्पष्ट करें छत्रपति के वशंज: संजय राउत

News18Hindi
Updated: January 13, 2020, 12:29 PM IST
शिवाजी की मोदी से तुलना करने वाली किताब पर रुख स्पष्ट करें छत्रपति के वशंज: संजय राउत
संजय राउत ने बड़ा बयान दिया है. (फाइल फोटो)

शिवसेना के नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि महाराष्ट्र बीजेपी को इस मसले पर अपनी भूमिका स्पष्ट करनी चाहिए. क्या उन्हें यह तुलना मान्य है? छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) हमारे भगवान हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 13, 2020, 12:29 PM IST
  • Share this:
मुंबई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) से तुलना करने वाली किताब को लेकर छिड़े विवाद के बीच शिवसेना के नेता संजय राउत ने सोमवार को कहा कि मराठा योद्धा के वंशजों को यह स्पष्ट करना चाहिए कि उन्हें शिवाजी की तुलना मोदी से किया जाना पसंद है या नहीं. राउत ने यहां संवाददाताओं से कहा कि भाजपा को यह घोषणा करनी चाहिए कि उसका छत्रपति शिवाजी की तुलना मोदी से करने वाली किताब से कोई लेना-देना नहीं है. ‘आज का शिवाजी: नरेंद्र मोदी’ किताब भाजपा नेता जय भगवान गोयल ने लिखी है. राज्य की महाराष्ट्र विकास अघाड़ी सरकार ने इस पुस्तक की निंदा की है.

'इस किताब पर तत्काल प्रतिबंध लगाएं':
संभाजी राजे ने भाजपा प्रमुख अमित शाह से रविवार को मांग की थी कि वे भाजपा के दिल्ली कार्यालय से प्रकाशित इस किताब पर तत्काल प्रतिबंध लगाएं. किताब में मोदी की तुलना छत्रपति शिवाजी से करके लोगों की भावनाओं को कथित तौर पर ठेस पहुंचाने के मामले में महाराष्ट्र कांग्रेस प्रवक्ता अतुल लोढे ने गोयल के खिलाफ रविवार को नागपुर में शिकायत दर्ज करवाई थी.

'नरेंद्र मोदी, नरेंद्र मोदी हैं, लेकिन छत्रपति सबसे बड़े'

इस पुस्तक को लेकर हो रहे विवाद पर संजय राऊत ने कहा, ‘छत्रपति शिवाजी महाराज सिर्फ महाराष्ट्र के नहीं, पूरे देश के लिए देव हैं...किसी व्यक्ति से उनकी तुलना करना छत्रपति का अपमान है...नरेंद्र मोदी, नरेंद्र मोदी हैं, लेकिन छत्रपति सबसे बड़े हैं…’ उन्होंने कहा, 'महाराष्ट्र बीजेपी को इस पर अपनी भूमिका स्पष्ट करनी चाहिए...क्या उन्हें यह तुलना मान्य है? शिवाजी महाराज हमारे भगवान हैं...मोदी से उनकी तुलना करना शिवाजी महाराज का घोर अपमान है. शिवाजी महाराज के वंशज को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए.'

'मराठी होने के नाते हमारी भावना तीव्र'
संजय राउत ने कहा, ‘मराठी होने के नाते हमारी भावना तीव्र है. जिस शख्स ने यह पुस्तक लिखी है, उसने ही 15 साल पहले महाराष्ट्र सदन में हमला किया था. मोदी जी अपनी जगह महान हैं, लेकिन उनकी तुलना शिवाजी महाराज से करने वाले ...हैं.’ राउत ने बताया कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ विपक्ष की सोमवार को होने वाली बैठक में शिवसेना शामिल नहीं होगी, क्योंकि शिवसेना को बैठक में शामिल होने का निमंत्रण नहीं मिला है.रिपोर्ट – दिवाकर सिंह

ये भी पढ़ें - 

दिल्ली, हरियाणा और UP में बारिश के आसार, बढ़ सकती है कंपकपाने वाली ठंड

नाना पटोले बोले, 'ब्रह्मा, विष्णु, महेश' जैसी है 3 दलों की उद्धव ठाकरे सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 11:59 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर