अपना शहर चुनें

States

गुलजार ने किया कटाक्ष, बोले- दिल्लीवालों से सावधान, पता नहीं वे कौन सा कानून ले आएं

फिल्म निर्माता गुलजार (Gulzar) ने एक साहित्य पुरस्कार समारोह में बोले कि इन दिनों उन्हें दिल्लीवालों से डर लगता है, क्योंकि कोई नहीं जानते ‘वे कौन सा कानून ले आएं. '
फिल्म निर्माता गुलजार (Gulzar) ने एक साहित्य पुरस्कार समारोह में बोले कि इन दिनों उन्हें दिल्लीवालों से डर लगता है, क्योंकि कोई नहीं जानते ‘वे कौन सा कानून ले आएं. '

फिल्म निर्माता गुलजार (Gulzar) ने एक साहित्य पुरस्कार समारोह में बोले कि इन दिनों उन्हें दिल्लीवालों से डर लगता है, क्योंकि कोई नहीं जानते ‘वे कौन सा कानून ले आएं. '

  • Share this:
मुंबई. संशोधित नागरिकता कानून (Citizenship Act) के बढ़ते विरोध के बीच गीतकार और फिल्म निर्माता गुलजार (Gulzar) ने कटाक्ष किया है. उन्होंने शनिवार को कहा कि इन दिनों उन्हें दिल्लीवालों से डर लगता है, क्योंकि कोई नहीं जानते ‘वे कौन सा कानून ले आएं’. वह अखबार ‘अमर उजाला’ द्वारा आयोजित एक साहित्य पुरस्कार समारोह में बोल रहे थे.

‘आंधी’ और ‘माचिस’ जैसी फिल्मों के निर्देशक गुलजार ने कहा कि जब उनके मित्र और अमर उजाला समूह के संपादकीय सलाहकार यशवंत व्यास दिल्ली से उनसे मिलने के लिए आए तो वह डर गए थे. गुलजार ने हंसते हुए कहा, “इन दिनों आप नहीं जानते कि ‘दिल्ली-वाले’ क्या कानून ला देंगे.”

उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी कटाक्ष करते हुए कहा,“मैं आपको ‘मित्रों’ संबोधित करने वाला था, लेकिन फिर मैं रुक गया.”उन्होंने जाहिर तौर पर मोदी के भीड़ को संबोधित करने के पसंदीदा तरीके का जिक्र किया. गौरतलब है कि बॉलीवुड के जाने माने गीतकार गुलजार को हिंदी सिनेमा के सर्वोच्च सम्मान दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.



ये भी पढ़ें: 
CAA की खूबियां बताने को भाजपा बिहार में चलाएगी अभियान

CAA पर जवाब दे रहे थे केरल के राज्‍यपाल, मंच पर विरोध करने पहुंच गए इरफान हबीब
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज