मुंबई में 24 घंटे यहां मुफ्त में मिल रहा है भरपेट खाना!

मुंबई मायानगरी ज़रूर है, लेकिन यहां इंसानियत बरकरार है. भूखे को खाना खिलाने से बड़ा काम कोई नहीं. यहां वर्सोवा में चल रहा कम्युनिटी फ्रीज प्रतिदिन करीब 70-80 लोगों की भूख मिटा रहा है.

शिखा धारीवाल | News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 2:19 PM IST
शिखा धारीवाल | News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 2:19 PM IST
मुंबई मायानगरी ज़रूर है, लेकिन यहां इंसानियत बरकरार है. भूखे को खाना खिलाने से बड़ा काम कोई नहीं. यहां वर्सोवा में चल रहा कम्युनिटी फ्रीज प्रतिदिन करीब 70-80 लोगों की भूख मिटा रहा है. यहां असपास के होटलों और स्थानीय लोगों के घर का बचा हुआ खाना तो आता ही है, साथ ही कुछ ऐसे लोग भी हैं, जो खरीद कर खाना दे जाते हैं. आपको बता दें कि वर्सोवा का यह कम्युनिटी फ्रीज बारह महीने ज़रूरतमंदों के लिए खुला रहता है, और लगभग रोज़ कम से कम 70-80 लोगों की भूख मिटाता है. मैनेजमेंट कमेटी से जुड़े श्याम कलवानी बताते है कि इस कम्युनिटी फ्रीज की शुरूआत 2017 में की थी और अब यह फ्रीज वर्सोवा इलाके के ज़रूरतमंद लोगों और बच्चों का फेवरेट अड्डा बन चुका है

मुफ्त में मिलता है भरपेट खाना- मायानगरी मुंबई भले ही ग्लैमर की चकाचौंध में डूबी हो लेकिन इस शहर में अकसर आपको इंसानियत की मिसालें मिल जाती हैं. इनमें कई कहानियां तो ऐसी हैं कि आपको यकीन हो जाएगा कि शहर के सीने में भी एक दिल धड़कता है.

>> यहां लोग बारिश,  बाढ़, तूफान से लेकर किसी भी मुसीबत में एक दूसरे की मदद के लिए सबसे पहले आगे आते हैं. साथ ही अगर बात किसी को पेट भर खाना खिलाने की हो तो इस मामले में भी मुम्बईकर पीछे नहीं है. मुम्बई के अंधेरी वर्सोवा इलाके में कम्यूनिटी फ्रीज ज़रूरत मंदों के लिए बेहतरीन सहारा है.

>> घर या होटल में बचे हुए खाने से ज़रूरतमंद लोगों की भूख मिटाने में असल रोल निभाता है ये कम्युनिटी फ्रीज. इस कम्युनिटी फ्रीज में खाने का सामान रखा रहता है और यहां आने वाला कोई भी व्यक्ति अपनी भूख के हिसाब से यहां से पूरे हक़ से बिना किसी सवाल जवाब के खाना निकालकर खा सकता है.

versova में चल रहा Community fridgeप्रतिदिन करीब 70-80 लोगों की भूख मिटा रहा है.
वर्सोवा में चल रहा कम्युनिटी फ्रीज प्रतिदिन करीब 70-80 लोगों की भूख मिटा रहा है.


यहां से आता है इस कम्युनिटी फ्रिज में खाना
ये कम्युनिटी फ्रीज बच्चे, रिक्शाचालक, भिखारियों के साथ-साथ आसपास काम करने वाले  ग़रीब लोगों का भूख लगने पर फेवरेट अड्डा है. एक तरफ जहां यहां लोग खाना खाने आते हैं तो वहीं खाना खिलाने वालों की भी कमी नहीं है.
Loading...

>> कुछ लोग अपने घरों में बचा हुआ खाना यहां दे जाते हैं, तो कुछ यहाँ ख़रीद कर भी फ्रीज में रख कर जाते हैं. साथ ही आसपास के कई होटल भी बचा हुआ खाना बर्बाद करने की बजाय यहां रख जाते हैं. फ्रीज को शुरू करने वाले प्रबंधन के लोग भी हर दिन सुबह 9.30 बजे और शाम 4.30 बजे यहां खाना रखने आते हैं.

2017 में की थी शुरूआत, और बढ़ाने की योजना
वर्सोवा का यह कम्युनिटी फ्रीज बारह महीने ज़रूरतमंदों के लिए खुला रहता है, और लगभग रोज़ कम से कम 70-80 लोगों की भूख मिटाता है.

>> मैनेजमेंट कमेटी से जुड़े श्याम कलवानी बताते है कि इस कम्युनिटी फ्रीज की शुरूआत 2017 में की थी और अब यह फ्रीज वर्सोवा इलाके के ज़रूरतमंद लोगों और बच्चों का फेवरेट अड्डा बन चुका है हालांकि अब हम ऐसे कम्युनिटी फ्रीज मुम्बई में कई और जगहों पर भी खोलने की कोशिश कर रहे है ताकि बचे हुए खाने को फेंकने की बजाय लोगों का पेट भरा जा सके .

ये भी पढ़ें -

नया कानून! कार और बाइक चलाने वालों के लिए बड़ी खबर, लाइसेंस रिन्यू से लेकर इन सभी 13 नियमों में होगा बदलाव

साक्षी-अजितेश मामले में मुरादाबाद के शिवसेना नेता पर FIR दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 2:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...