लाइव टीवी
Elec-widget

NCP ने शरद पवार को दिया सरकार गठन पर कोई भी फैसला लेने का अधिकार

News18Hindi
Updated: November 12, 2019, 5:23 PM IST
NCP ने शरद पवार को दिया सरकार गठन पर कोई भी फैसला लेने का अधिकार
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस के समर्थन और तीन दलों के साथ विचार-विमर्श के बिना महाराष्ट्र में वैकल्पिक सरकार नहीं बन सकती.

राज्य में भाजपा (BJP) के बिना सरकार बनाने की शिवसेना (Shiv Sena) की कोशिशों को सोमवार को उस वक्त तड़गा झटका लगा जब कांग्रेस (Congress) ने अंतिम समय में कहा कि उसे उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की अगुवाई वाली पार्टी को समर्थन देने से पहले अपने सहयोगी दल राकांपा (NCP) के साथ और विचार विमर्श करने की जरूरत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2019, 5:23 PM IST
  • Share this:
मुंबई. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस (Congress) के समर्थन और तीन दलों के साथ विचार-विमर्श के बिना महाराष्ट्र (Maharashtra) में वैकल्पिक सरकार नहीं बन सकती. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक (Nawab Malik) ने राकांपा के विधायकों से मुलाकात के बाद कहा कि राकांपा ने राज्य में चल रहे राजनीतिक संकट को समाप्त करने के लिए पार्टी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) को वैकल्पिक सरकार का गठन करने के लिए अधिकृत किया है. मलिक ने कहा, 'बैठक में पार्टी के सभी 54 विधायक मौजूद थे. राज्य में अनिश्चितता के माहौल को देखते हुए विधायकों ने शरद पवार को वैकल्पिक सरकार के गठन पर कोई निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया है.'

सरकार गठन पर बातचीत के लिए पवार के नेतृत्व में एक समिति गठित की जाएगी
उन्होंने कहा कि सरकार गठन पर बातचीत के लिए पवार के नेतृत्व में एक समिति गठित की जाएगी. मलिक ने कहा, 'कांग्रेस के सहयोग के बिना और तीनों दलों (राकांपा,कांग्रेस और शिवसेना) के बीच विचार विमर्श के बिना सरकार का गठन नहीं हो सकता.' उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खडगे और के सी वेणुगोपाल मंगलवार शाम पांच बजे पवार से मुलाकात करेंगे. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राकांपा को मंगलवार शाम साढ़े आठ बजे तक सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए कहा है.

समर्थन पत्र नहीं ले सकी शिवसेना

बता दें कि राज्य में भाजपा के बिना सरकार बनाने की शिवसेना की कोशिशों को सोमवार को उस वक्त तड़गा झटका लगा जब कांग्रेस ने अंतिम समय में कहा कि उसे उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली पार्टी को समर्थन देने से पहले अपने सहयोगी दल राकांपा के साथ और विचार विमर्श करने की जरूरत है. पार्टी के नेता आदित्य ठाकरे ने कहा था कि राकांपा और कांग्रेस उनकी पार्टी की अगुवाई वाली सरकार को सैद्धांतिक समर्थन देने पर सहमत हो गयी हैं, लेकिन पार्टी राज्यपाल द्वारा तय समयसीमा के पहले इन दलों से समर्थन पत्र नहीं ले सकी.

राष्ट्रपति शासन लागू करने के प्रस्ताव के बाद...
महाराष्ट्र में राजनीतिक उठापटक के बीच राज्यपाल की ओर से प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लागू करने के प्रस्ताव के बाद केसी पडवी ने कहा है कि शिवसेना ने एनडीए से नाता तोड़ लिया है, अब विचारधारा की कोई दिक्कत नहीं है. शिवसेना हमें समर्थन दे रही है और जैसे ही मैजिक फिगर हो जाएगा और कॉमन मिनिमम प्रोग्राम तय हो जाएगा, हम महाराष्ट्र में सरकार बनाएंगे.
Loading...

ये भी पढ़ें:
महाराष्ट्र: NCP ने कांग्रेस पर फोड़ा ठीकरा, कहा- हमारी वजह से नहीं हुई देरी

छिटकती दिखी CM की कुर्सी तो कानूनी रास्ते तलाशने लगी शिवसेना!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2019, 5:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...