महाराष्ट्र: सड़कों की मरम्मत के लिए सरकार के पास नहीं है पैसा, PWD के बजट में की कटौती
Mumbai News in Hindi

महाराष्ट्र: सड़कों की मरम्मत के लिए सरकार के पास नहीं है पैसा, PWD के बजट में की कटौती
महाराष्ट्र सरकार ने PWD के बजट में की कटौती (सांकेतिक तस्वीर)

अशोक चौहान (Ashok chauhan) ने बताया कि सरकार का अधिकतम पैसा स्वास्थ्य विभाग मेडिकल कॉलेज और लोगों के लिए खाद्य आपूर्ति में खर्च हो रहा है. इन दिनों महाराष्ट्र में राजस्व भी कम आ रहा है जिसके कारण पीडब्ल्यूडी (PWD) के पैसे में कटौती की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 12, 2020, 7:56 PM IST
  • Share this:
मुंबई. बारिश (Rain) के बाद सड़कों पर गड्ढे की तस्वीरें और उससे होने वाले हादसे आए दिन मीडिया की सुर्खियां बनते हैं. हालांकि सरकार का पीडब्ल्यूडी विभाग (PWD Department) बारिश में खराब हुई सड़कों की मरम्मत में करोड़ों रुपये खर्च करता है, लेकिन इस बार महाराष्ट्र (Maharashtra) के लोगों को अगले 6 महीने तक खराब सड़कों से ही दो-चार होना पड़ेगा. वजह साफ है कि महाराष्ट्र सरकार के पास फिलहाल पैसे नहीं है जिससे वह पीडब्ल्यूडी विभाग को निर्धारित पूर्व बजट के पैसे दे पाए. सरकार का पूरा ध्यान और बजट का ज्यादा से ज्यादा पैसा स्वास्थ्य विभाग को जा रहा है जिससे स्वास्थ्य विभाग कोरोना के समय लोगों के स्वास्थ्य पर और कोरोना से बचाने के लिए काम कर रहा है. ऐसे में हर विभाग के बजट में कटौती की गई है, लेकिन खास बात यह है कि पीडब्ल्यूडी विभाग जो बारिश के समय खराब सड़कों को दुरुस्त करता है उसके भी बजट के आधे से ज्यादा पैसे काट लिए गए हैं.

महाराष्ट्र (Maharashtra) के पीडब्ल्यूडी मंत्री अशोक चौहान बताते हैं कि सरकार का अधिकतम पैसा स्वास्थ्य विभाग मेडिकल कॉलेज और लोगों के लिए खाद्य आपूर्ति में खर्च हो रहा है. इन दिनों महाराष्ट्र में राजस्व भी कम आ रहा है जिसके कारण पीडब्ल्यूडी के पैसे में कटौती की गई है. यानी साफ है कि आने वाले 6 महीने महाराष्ट्र सरकार के पास जब तक पर्याप्त व राजस्व आना शुरू नहीं होगा तब तक महाराष्ट्र के लोग खराब सड़कों पर ही चलेंगे गांव की सड़कों की मरम्मत के लिए बजट महाराष्ट्र की तिजोरी में फिलहाल नहीं है.

महाराष्ट्र सरकार को राजस्व का काफी नुकसान



राज्य सरकार की कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा इंडस्ट्रीज खोलें जिससे सरकार की आमदनी शुरू हो लेकिन जिस तरीके से कोरोना का संक्रमण पूरे महाराष्ट्र भर में है अभी भी मजदूर नहीं आ रहे हैं और कई सारी इंडस्ट्रीज को सरकार द्वारा परमिशन दिए जाने के बाद भी नहीं खुल पाई हैं ऐसे में महाराष्ट्र सरकार को राजस्व का काफी नुकसान हो रहा है और इसलिए सरकार ने अत्यावश्यक सेवाओं से जुड़े विभाग को छोड़कर दूसरे सभी विभाग के बजट में कटौती करने का फैसला किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज