लाइव टीवी
Elec-widget

उद्धव सरकार का मराठा कार्ड, महाराष्ट्र में 80% निजी नौकरियां सिर्फ स्थानीय लोगों को

News18Hindi
Updated: December 1, 2019, 9:02 PM IST
उद्धव सरकार का मराठा कार्ड, महाराष्ट्र में 80% निजी नौकरियां सिर्फ स्थानीय लोगों को
महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार ने विश्वासमत हासिल कर लिया है. कांग्रेस के नाना पटोले विधानसभा अध्यक्ष चुने गए हैं.

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Kosari) ने कहा कि राज्य सरकार कानून लाकर स्थानीय लोगों के लिए निजी नौकरियों में 80 प्रतिशत आरक्षण (Reservation) सुनिश्चित करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2019, 9:02 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की सरकार ने बड़ा दांव चलने की तैयारी कर ली है. सरकार ये दांव नौकरियों के माध्यम से चलने जा रही है. महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Kosari) ने रविवार को कहा कि राज्य सरकार कानून लाकर स्थानीय लोगों के लिए निजी नौकरियों में 80 प्रतिशत आरक्षण (Reservation) सुनिश्चित करेगी.

कोश्यारी ने यह घोषणा विधान भवन में विधायकों की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए की. राज्यपाल ने कहा कि शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस की महा विकास आघाडी सरकार बेरोजगारी को लेकर चिंतित है. राज्यपाल के संबोधन के बाद महाराष्ट्र विधानसभा के निचले सदन को 16 दिसंबर तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

कांग्रेस के नाना पटोले बने विधानसभा अध्यक्ष
बता दें कि कांग्रेस उम्मीदवार नाना पटोले को आज महाराष्ट्र विधानसभा में निर्विरोध स्पीकर (Assembly Speaker) चुन लिया गया. दरअसल बीजेपी (BJP) ने अपने उम्मीदवार किसन शंकर कथोरे का नाम वापस ले लिया था, जिसके बाद नाना पटोले का निर्विरोध चुना जाना तय था. नाना पटोले के विधानसभा अध्यक्ष चुने जाने पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने उन्हें बधाई देते हुए कहा कि नाना पटोले एक किसान परिवार से आए हैं और मुझे विश्वास है कि वह सभी के साथ न्याय करेंगे.

उद्धव ने की फडणवीस की तारीफ
सदन में बोलते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने देवेंद्र फडणवीस की जमकर तारीफ की. उद्धव ने कहा, 'मैंने देवेंद्र फडणवीस से बहुत चीजें सीखी हैं और मैं हमेशा उनका दोस्त रहूंगा. मैं अभी भी 'हिंदुत्व' की विचारधारा के साथ हूं और इसे कभी नहीं छोड़ूंगा.' उन्होंने कहा कि पिछले 5 साल में मैंने कभी भी सरकार को धोखा नहीं दिया है.

फडणवीस चुने गए विपक्ष के नेता
Loading...

वहीं, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) को रविवार को विधानसभा में विपक्ष का नेता चुना गया. इस दौरान देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि विरोधी का मतलब शत्रु नहीं बल्कि वैचारिक विरोध होता है. कल जो विरोधी थे, वे आज मित्र हो गए और जो मित्र थे, वे विरोधी हो गए. सदन में बोलते हुए फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा, ‘मैंने कहा था कि मैं फिर से आऊंगा और महाराष्ट्र की जनता ने हमें इसके लिए जनादेश भी दिया, लेकिन इस जनादेश का हमने सम्मान नहीं किया. मैंने ये नहीं कहा था कि कब आऊंगा. लेकिन अब कहना चाहता हूं ‘मेरा पानी उतरता देख घर मत बसा लेना, मैं समुंद्र हूं फिर से वापस आऊंगा.’

ये भी पढ़ें-

विपक्ष के नेता बने फडणवीस, बोले- कल के विरोधी मित्र हो गए, मित्र विरोधी बन गए

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 6:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...