Home /News /maharashtra /

अजित के इस्तीफे पर बोले शरद पवार: मेरा नाम घोटाले में घसीटे जाने से वो परेशान है

अजित के इस्तीफे पर बोले शरद पवार: मेरा नाम घोटाले में घसीटे जाने से वो परेशान है

शरद पवार का कहना है कि अजित उनका नाम घोटाले में शामिल किए जाने के कारण परेशान हैं.

शरद पवार का कहना है कि अजित उनका नाम घोटाले में शामिल किए जाने के कारण परेशान हैं.

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सुप्रीमो शरद पवार (Sharad Pawar) का नाम घोटाले में आने के बाद महाराष्ट्र की राजनीति हाईवोल्टेज मोड में आ गई है. गुरुवार रात शरद पवार के भतीजे अजित पवार (Ajit Pawar) ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    मुंबई. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सुप्रीमो शरद पवार (Sharad Pawar) का नाम घोटाले में आने के बाद महाराष्ट्र की राजनीति हाईवोल्टेज मोड में आ गई है. गुरुवार रात शरद पवार के भतीजे अजित पवार (Ajit Pawar) ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया. अपने भतीजे के इस्तीफे पर शरद पवार ने प्रतिक्रिया दी है. शरद पवार ने कहा, 'मैंने उसके बेटे से बातचीत की. उनसे बातचीत के मुताबिक अजित अपने चाचा यानी मेरा नाम घोटाले में लाए जाने पर क्षुब्ध है. इस केस में उसका भी नाम शामिल है.'

    शरद पवार ने कहा है- 'अजित ने अपने परिवार से कहा एक आदमी (शरद पवार) जो 50-52 साल से महाराष्ट्र में राजनीति कर रहा है, चार बार राज्य का सीएम रहा, रक्षा मंत्री रहा, जिसने कई क्षेत्रों में काम किया, उसका नाम इस केस में घसीटा गया.जबकि वो व्यक्ति उस बैंक का सदस्य तक नहीं है. ये उसके लिए बर्दाश्त के बाहर है.'



    अजित पवार ने दिया इस्तीफा
    दरअसल राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता अजित पवार ने विधायक के पद से इस्तीफा दे दिया है. विधानसभा अध्यक्ष हरिभाऊ बागड़े ने उनका इस्तीफा मंजूर भी कर लिया है. महाराष्ट्र स्टेट को-ऑपरेटिव बैंक (Maharashtra State Co-Operative Bank) घोटाले में ईडी ने NCP प्रमुख शरद पवार और उनके भतीजे अजित पवार सहित अन्य 70 के खिलाफ पर मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है. ईडी ने महाराष्ट्र स्टेट को-ऑपरेटिव बैंक से जुड़े हुए 70 लोगों को भी अपनी एफआईआर में आरोपी बनाया है. बता दें, ये स्कैम 25 हजार करोड़ रुपये का है. शुरुआत में मुंबई पुलिस ने इस मामले में एक एफआईआर दर्ज की थी.

    विधानसभा चुनाव से पहले दर्ज किया गया मामला
    यह मामला ऐसे समय पर दर्ज किया गया है जब महाराष्ट्र की सभी 288 सीटों पर 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव होने हैं. इस मामले में आरोपियों में दिलीपराव देशमुख, इशरलाल जैन, जयंत पाटिल, शिवाजी राव, आनंद राव अदसुल, राजेंद्र शिंगाने और मदन पाटिल शामिल हैं. राज्य की आर्थिक अपराध शाखा (EOW) द्वारा दर्ज शिकायत के आधार पर इस साल अगस्त में मुंबई पुलिस ने एक एफआईआर दर्ज की थी. मुंबई पुलिस द्वारा दर्ज एफआईआर के आधार पर ईडी ने धन शोधन के मामले में आपराधिक आरोप लगाए हैं.
    ये भी पढ़ें:

    महात्मा गांधी के अस्थिकलश को रामेश्वरम ले जाने वाला वीडियो मिला

    महाराष्ट्र चुनाव 2019: नवरात्र के पहले दिन जारी होगी BJP की पहली लिस्ट!

    Tags: Maharashtra, NCP, Sharad pawar

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर