संविधान हमारे लिए गीता, बाइबल और कुरान, इसे बदलने की सोच नहीं सकते: फडणवीस

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 6, 2019, 5:42 PM IST
संविधान हमारे लिए गीता, बाइबल और कुरान, इसे बदलने की सोच नहीं सकते: फडणवीस
फडणवीस महाराष्ट्र के बड़े दलित नेता अठावले द्वारा मुंबई में आयोजित एक रैली में बोल रहे थे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष का यह दावा सच नहीं है कि बीजेपी की संविधान को बदलने तथा नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण की व्यवस्था खत्म करने की योजना है.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने गुरुवार को कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों में बीजेपी (BJP)-शिवसेना (Shiv sena) गठबंधन की जीत निश्चित है और यह सुनिश्चित करने के हरसंभव प्रयास किए जाएंगे कि आरपीआई (ए) उम्मीदवार विजयी हों. केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले के नेतृत्व वाली आरपीआई (ए) बीजेपी-शिवसेना गठबंधन का हिस्सा है.

फडणवीस महाराष्ट्र के बड़े दलित नेता अठावले द्वारा मुंबई में आयोजित एक रैली में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि आगामी चुनावों में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन की जीत निश्चित है और आरपीआई (ए) उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव प्रयास किए जाएंगे.

विपक्ष के आरोप झूठे
मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष का यह दावा सच नहीं है कि बीजेपी की संविधान को बदलने तथा नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण की व्यवस्था खत्म करने की योजना है. उन्होंने कहा, 'संविधान हमारे लिए भगवद गीता, बाइबल और कुरान है. जब अठावले जैसे नेता हमारे साथ हैं तो कोई संविधान बदलने के बारे में सोच भी नहीं सकता.'

बाबासाहेब ने किया था 370 का विरोध
फडणवीस ने कहा कि बीआर आंबेडकर ने अनुच्छेद 370 को संविधान में शामिल करने का विरोध किया था जो जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देता था. अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने के साथ ही आंबेडकर के विरोध का रुख भी न्यायोचित साबित हुआ. उन्होंने कहा कि इंदु मिल में प्रस्तावित आंबेडकर स्मारक दिसंबर 2020 तक बनकर तैयार हो जाएगा.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासन के दौरान सामाजिक आधिकारिता विभाग के लिए बजटीय आवंटन सिंचाई जैसे अन्य विभागों को दे दिया जाता था. फडणवीस ने कहा, 'अब बीजेपी-शिवसेना शासन के दौरान सरकार ने कानून बनाया कि सामाजिक अधिकारिता विभाग के लिए आवंटित निधि किसी और विभाग को नहीं दी जाएगी. अगर निधि खर्च नहीं की गई तो उसका अगले साल इस्तेमाल किया जाएगा.'
Loading...

BJP-शिवसेना में बढ़ी तल्‍खी?
सीएम फडनवीस के बयानों से इतर बीजेपी-शिवसेना के बीच तल्खी की भी खबरें आ रही हैं. महाराष्ट्र (Maharashtra) की सत्ता पर काबिज बीजेपी और शिवसेना के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. इसका अनुमान इस बात से लगाया जा रहा है कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) एक ही दिन, एक ही शहर में हुए दो बड़े कार्यक्रमों में अलग-अलग मंचों पर नजर आए.

कम नहीं हुई BJP-शिवसेना की तल्खी
साफ है कि कहीं न कहीं बीजेपी और शिवसेना के बीच तल्खी कायम है. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election) के ठीक पहले बीजेपी-शिवसेना के बीच सीट बंटवारे को लेकर समानता नहीं बन पाई है. यही कारण है कि दोनों ही प्रमुख नेता एक-दूसरे के साथ एक मंच पर नजर नहीं आए. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस जहां रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामदास आठवले के कार्यक्रम में शामिल हुए. वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे स्‍टेट ट्रांसपोर्ट की ओर से लाई जा रहीं इलेक्ट्रिक सिटी बसों के उद्धाटन समारोह में शामिल हुए.
(एजेंसी इनपुट के साथ.)

ये भी पढ़ें:

जब मुंबई की इमारत से अचानक बहने लगा 'झरना', वीडियो हुआ वायरल

आखिर क्यों बीजेपी के विरोध में NCP के साथ आई शिवसेना?

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2019, 5:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...