लाइव टीवी

कर्नाटक उपचुनाव में BJP का परचम, फडणवीस बोले- मतदाताओं ने किया अवसरवादी राजनीति को खारिज

भाषा
Updated: December 9, 2019, 10:10 PM IST
कर्नाटक उपचुनाव में BJP का परचम, फडणवीस बोले- मतदाताओं ने किया अवसरवादी राजनीति को खारिज
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, यदि कोई जनादेश से खेलने का प्रयास करेगा तो लोग इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis)  ने कहा कि कर्नाटक विधानसभा उपचुनाव (Karnataka Assembly By-Election) परिणाम यह साबित करता है कि अगर कोई जनादेश से खेलने का प्रयास करेगा तो लोग इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे.

  • Share this:
मुम्बई. भाजपा नेता एवं महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने सोमवार को कर्नाटक विधानसभा उपचुनाव (Karnataka Assembly By-Election) के परिणामों का स्वागत किया. उन्‍होंने कहा कि यह परिणाम अवसरवादी राजनीति पर मतदाताओं की प्रतिक्रिया को दिखाता है. कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुआ था जिसमें से सत्तारूढ़ भाजपा ने 12 सीटों पर जीत दर्ज की और कर्नाटक विधानसभा में पर्याप्त बहुमत हासिल कर लिया.

जनादेश चुराने वाले दलों को जनता ने खारिज कर दिया
फडणवीस ने कहा कि जनता ने उन दलों को खारिज कर दिया जिन्होंने सत्ता की खातिर जनादेश ‘चुराया’. फडणवीस का इशारा परोक्ष रूप से भाजपा को सत्ता से बाहर रखने के लिए कांग्रेस और जद (एस) के हाथ मिलाने की ओर था. साल 2018 के कर्नाटक विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा अकेली सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी थी.

मतदाताओं ने जनादेश की चोरी करने पर दी है प्रतिक्रिया

फडणवीस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से जारी एक बयान में कहा कि मतदाताओं को जो पहला मौका मिला उसमें उन्होंने अवसरवादी राजनीति को खारिज किया. साथ ही सत्‍ता के लोभ के लिए एकजुट होने वाली पार्टियों को भी जनता ने जवाब दिया है. महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता फडणवीस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्‍पा को उपुचनाव में भाजपा के शानदार प्रदर्शन के लिए बधाई दी. उन्होंने कहा, ‘भाजपा, कर्नाटक भाजपा कार्यकर्ताओं, माननीय नरेंद्र मोदी जी, माननीय अमित शाह जी और येडियुरप्‍पा जी को बधाई.’

कांग्रेस 12 में से मात्र 2 पर जीत दर्ज कर पाई
कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों के लिए पांच दिसम्बर को उपचुनाव हुए थे और परिणाम सोमवार को घोषित हुए. कांग्रेस के पास इसमें से 12 सीटें थी लेकिन वह इसमें से मात्र दो पर जीत दर्ज कर पाई. वहीं, जद (एस) को एक भी सीट नहीं मिली. एक निर्दलीय उम्मीदवार ने भी जीत दर्ज की है.मुख्यमंत्री पद को लेकर मतभेद के कारण गठबंधन से अलग हो गई शिवसेना
महाराष्ट्र में भाजपा और उसकी सहयोगी शिवसेना ने 21 अक्टूबर को राज्य विधानसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ा था लेकिन मुख्यमंत्री पद साझा करने को लेकर मतभेद के चलते शिवसेना गठबंधन से अलग हो गई. उद्धव ठाकरे नीत शिवसेना ने बाद में कांग्रेस और राकांपा के साथ हाथ मिलाकर राज्य में महा विकास आघाडी सरकार बनायी. भाजपा महाराष्ट्र में 288 सदस्यीय विधानसभा में 105 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी थी.

ये भी पढे़ं - 

रेप और हत्या के दोष में 35 साल से काट रहे थे सजा, SC ने दिया रिहाई का आदेश

उद्धव का आदेश-औरंगाबाद में बाल ठाकरे स्मारक के लिए पेड़ों को न पहुंचाएं नुकसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 9:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर