महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: सीट बंटवारे पर कांग्रेस-NCP में फंसा पेंच, प्रकाश अंबेडकर भी बना रहे दबाव

Ranjeeta Jha | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 11, 2019, 7:27 PM IST
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: सीट बंटवारे पर कांग्रेस-NCP में फंसा पेंच, प्रकाश अंबेडकर भी बना रहे दबाव
महाराष्ट्र में सीटों पर अटका कांग्रेस एनसीपी गठबंधन का पेंच

महाराष्ट्र (Maharashtra) में एनसीपी 144 सीटों पर लड़ना चाहती है तो प्रकाश अंबेडकर (Prakash Ambedkar) एनसीपी (NCP) को समझौते से बाहर रखना चाहते हैं. हालांकि कांग्रेस (Congress) ने इसके लिए फार्मूला तैयार कर लिया है.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly election) को लेकर कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के बीच सीट बंटवारे को लेकर घमासान जारी है. एनसीपी के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) ने मंगलवार को दिल्ली में सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात कर सीट बंटवारे को लेकर अपनी बात रखी. एनसीपी महाराष्ट्र में आधी यानी 144 सीटों पर लड़ना चाहती है. सोनिया गांधी के कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष बनने के बाद शरद पवार के साथ उनकी ये पहली मुलाकात थी. महाराष्ट्र में अब MIM और प्रकाश अंबेडकर की राहें अलग हो चुकी हैं.

अलग हुए MIM और प्रकाश अंबेडकर के रास्ते
महाराष्ट्र में कुल 288 विधानसभा सीटें हैं. एनसीपी इस बार 50 फीसदी यानी 144 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है लेकिन कांग्रेस इसके लिए राज़ी नहीं है. वहीं राज्य में MIM और प्रकाश अंबेडकर का समझौता टूट गया है. प्रकाश अंबेडकर चाहते हैं कि कांग्रेस उनके साथ समझौता करे और एनसीपी को समझौते से बाहर कर दे. वहीं कांग्रेस की कोशिश है कि प्रकाश अंबेडकर और एनसीपी दोनों को साथ लेकर चलें जो फिलहाल मुमकिन नहीं लगता.

News - कांग्रेस ने एनसीपी और छोटे दलों से समझौते का एक फार्मूला निकाल लिया है
कांग्रेस ने एनसीपी और छोटे दलों से समझौते का एक फॉर्मूला निकाल लिया है


NCP और छोटे दलों के लिए फॉर्मूला
कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक एनसीपी को साथ रखने के लिए एक फॉर्मूला तैयार किया गया है जिसमें कांग्रेस की 123 सीटें स्क्रीनिंग कमेटी ने क्लियर कर दी है और लगभग उतनी ही सीटों पर एनसीपी की भी सहमति बन चुकी है. नए फॉर्मूले के तहत जो 38 सीटें बचती हैं वो कुछ छोटी पार्टियों को दी जाएंगी और बाकी सीटों में एनसीपी और कांग्रेस के उम्मीदवारों के बीच ये देखा जाएगा कि कौन उम्मीदवार सीट जीत सकता है. यानी 38 सीटें ऐसी हैं जिन पर सहमति अभी नहीं बन पाई है. इन सीटों पर छोटी पार्टियों को शामिल करने के अलावा जो उम्मीदवार जीतेगा, फिर चाहे वो कांग्रेस का हो या फिर एनसीपी का उसे तवज्जो दी जाएगी...

पिछले विधानसभा चुनाव की स्थिति
Loading...

>> 2014 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में NCP और कांग्रेस अलग-अलग चुनाव लड़े थे
>> 2009 में दोनों पार्टियों ने समझौते के तहत चुनाव लड़ा था
>> कांग्रेस 171 सीटों पर लड़ी थी तो NCP के हिस्से में 117 सीटें आईं थीं

कांग्रेस को झटके
इस वक़्त कांग्रेस और एनसीपी दोनों की सबसे बड़ी समस्या है कि दोनों के नेता पार्टी छोड़कर शिवसेना और बीजेपी में शामिल हो रहे हैं. मंगलवार को ही कांग्रेस को दो बड़े झटके लगे. लोकसभा चुनाव 2019 से पहले कांग्रेस में शामिल हुई उर्मिला मातोंडकर और मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कृपाशंकर सिंह ने कांग्रेस का 'हाथ' छोड़ दिया.

ये भी पढ़ें -

कानून-व्यवस्था को लेकर सचिन पायलट ने CM गहलोत पर साधा निशाना, कही ये बात...

चंद्रयान-2: लैंडर विक्रम को लेकर नया खुलासा, संपर्क टूटने का ग्राफ में दिखा सबूत

चुनाव आयोग की बैठक कल, 3 राज्यों के विधानसभा चुनाव की तारीखों का हो सकता है ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 7:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...