उद्धव ठाकरे बोले- ट्रेनें तो नहीं चलेंगी, पर मजदूरों को वापस भेजने का निकाल रहे हैं रास्ता
Mumbai News in Hindi

उद्धव ठाकरे बोले- ट्रेनें तो नहीं चलेंगी, पर मजदूरों को वापस भेजने का निकाल रहे हैं रास्ता
सीएम उद्धव ठाकरे

सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा, 'ट्रेनें तो नहीं चलेंगी, लेकिन मजदूरों को उनके घर वापस भेजने के लिए सरकार लगातार कोशिश कर रही है. इस मुद्दे पर दूसरे राज्यों से भी बात की जा रही है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2020, 5:42 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र सरकार Maharashtra Government) राज्य के कोरोना वायरस से प्रभावित शहरी इलाकों में लॉकडाउन को 3 मई के बाद भी बढ़ा सकती है. ऐसे में राज्य में फंसे मजदूरों को लेकर सरकार की परेशानी बढ़ गई है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा कि हम राज्य में फंसे मजदूरों को वापस भेजने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि ट्रेनें तो नहीं चलेंगी, लेकिन मजदूरों को उनके घर वापस भेजने के लिए सरकार लगातार कोशिश कर रही है. इस मुद्दे पर दूसरे राज्यों से भी बात की जा रही है.

उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा कि अगर ट्रेन खोल दी गई तो लोगों की भीड़ बढ़ जाएगी. जिससे कोरोना संक्रमण बढ़ने का खतरा रहेगा. इस वजह से लॉकडाउन को और भी बढ़ाना पड़ेगा. ठाकरे ने कहा कि कोटा में फंसे छात्रों को भी वापस लाने के लिए सरकार कोशिश कर रही है. उन्होंने छात्रों को वापस लाने के उपायों पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से चर्चा की.

ठाकरे ने छात्रों की वापसी के लिए गहलोत से की बात



महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के कार्यालय ने शनिवार को ट्वीट कर बताया कि ठाकरे और गहलोत ने शुक्रवार को फोन पर बातचीत की और इस दौरान दोनों नेताओं ने अपने अपने राज्यों में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के उपायों पर भी चर्चा की. मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा, 'दोनों मुख्यमंत्रियों ने कोटा में महाराष्ट्र के छात्रों के लिये किये गए इंतजाम पर भी चर्चा की. दोनों राज्य सामूहिक रूप से उपायों पर काम कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ये छात्र महाराष्ट्र लौट आयें.' महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली सरकार में कांग्रेस एक प्रमुख घटक है जिसकी राजस्थान में सरकार है.
सरकार बढ़ा सकती है लॉकडाउन

उधर, महाराष्ट्र सरकार राज्य के कोरोना वायरस से प्रभावित शहरी इलाकों में लॉकडाउन को तीन मई के बाद भी बढ़ा सकती है. राज्य के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को कहा कि राज्य सरकार मुंबई, पुणे, नासिक, नागपुर, औरंगाबाद और अमरावती शहरों के बाहर के इलाकों में स्थिति पर करीब से नजर रखी है. उन्होंने कहा, ‘शहर ही हैं जहां कोविड-19 के ज्यादा मामले हैं. अगर राज्य को बंद के मौजूदा सख्त नियमों में छूट देनी होगी तो यह राज्य के ग्रामीण और कम प्रभावित इलाकों में दी जाएगी. हालांकि हम इसे देख रहे हैं क्योंकि ग्रामीण और शहरी इलाके जुड़े हुए हैं.’

ये भी पढ़ें-

मुंबई में कोरोना पर काबू पाने में झुग्गी-बस्तियां बनीे चुनौती, 10 लाख की आबादी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज