Home /News /maharashtra /

महाराष्ट्र: कांग्रेस MLA राजस्थान से वापस मुंबई लौटे, इस डर से भेजा था जयपुर

महाराष्ट्र: कांग्रेस MLA राजस्थान से वापस मुंबई लौटे, इस डर से भेजा था जयपुर

महाराष्ट्र: कांग्रेस विधायकों की हुई घर वापसी

महाराष्ट्र: कांग्रेस विधायकों की हुई घर वापसी

वापस लौटने वालों में से एक विधायक (MLA) ने कहा- कांग्रेस (Congress) के सभी 44 विधायकों (MLA) के 'खून में कांग्रेस है' और कोई भी उन्हें खरीद नहीं सकता.

    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में राष्ट्रपति शासन (President rule) लगने के अगले दिन यानी बुधवार को कांग्रेस के विधायक जयपुर से वापस मुंबई लौट आए. वे पांच दिन से जयपुर में एक रिजॉर्ट में ठहरे हुए थे. फिलहार ऐसी खबर है कि कांग्रेस, एनसीपी के साथ इस बात को लेकर बातचीत चल रही है कि सरकार गठन के लिए शिवसेना को समर्थन दिया जाए या नहीं. साथ ही अगर समर्थन दिया जाए तो उसकी शर्तें क्या होनी चाहिए.

    विधायक बोले 'हम सभी अब घर जा रहे हैं'
    वापस लौटने वालों में से एक विधायक ने कहा कि राज्य के कांग्रेस नेतृत्व ने उनसे कहा है कि उन्हें अगले सप्ताह पार्टी के भविष्य के फैसलों के बारे में बताया जाएगा. विधायक ने नाम सार्वजनिक नहीं करने की शर्त पर मीडिया से कहा, 'हम सभी अब घर जा रहे हैं'. उन्होंने कहा, 'कांग्रेस के सभी 44 विधायकों के खून में कांग्रेस है और कोई भी उन्हें खरीद नहीं सकता.' उन्होंने आगे कहा, 'जो जाना चाहते थे वे पहले ही पार्टी छोड़ चुके हैं.'

    हॉर्स ट्रेडिंग के डर से भेजा जा राजस्थान
    बता दें कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर चल रही रस्साकशी के बीच कांग्रेस ने अपने विधायकों को राजस्थान बुला लिया था. विधायकों को जयपुर लाने पर सीएम अशोक गहलोत ने कहा था, 'भाजपा ने कई जगह हॉर्स ट्रेडिंग की है. यह बहुत गलत परम्परा शुरू हुई है. राजस्थान तो कई बार ये अनुभव कर चुका है. बीजेपी के शासनकाल में कई बार झारखंड और अन्य जगहों के एमएलए आकर यहां रहे हैं.

    कांग्रेस नेताओं ने सोनिया गांधी को चेताया
    वहीं दूसरी ओर कांग्रेस वर्किंग कमेटी  की बैठक के दौरान कुछ ऐसा हुआ कि पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने विपक्ष में बैठने की बात को छोड़ शिवसेना को समर्थन देने के बारे में सोचना शुरू कर दिया. दरअसल, इस बैठक के दौरान कांग्रेस के नेताओं ने एक सुर में सोनिया गांधी से कहा कि यदि इस बार कांग्रेस की सरकार महाराष्ट्र में नहीं बनी तो सूबे में कांग्रेस का अस्तित्व ही खतरे में पड़ जाएगा.

    ये भी पढ़ें: 

    महाराष्ट्र के कांग्रेस विधायकों ने यहां गुजारे 6 दिन, जमकर उठाया लग्जरी रिसॉर्ट का लुत्फ

    जानिए महाराष्ट्र में गवर्नर ने आखिर क्यों लगाया राष्ट्रपति शासन?

    सोनिया को कांग्रेस नेताओं ने चेताया- नहीं बनाई सरकार तो खत्म हो जाएगी पार्टी

    Tags: Maharashtra Assembly Election 2019, Mumbai

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर