लाइव टीवी

महाराष्ट्र: कांग्रेस-NCP की बैठक रद्द, बारामती के लिए रवाना हुए अजीत पवार

भाषा
Updated: November 13, 2019, 8:17 PM IST
महाराष्ट्र: कांग्रेस-NCP की बैठक रद्द, बारामती के लिए रवाना हुए अजीत पवार
कैंसिल हुई एनसीपी-कांग्रेस की बैठक

कांग्रेस-एनसीपी (Congress-NCP) की इस बैठक में ही तय होना था कि किन शर्तों पर ये दोनों पार्टियां शिवसेना (Shiv Sena) को सरकार बनाने के लिए समर्थन देंगी.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजनीति जहां पल-पल रंग बदल रही है वहीं अब खबर आ रही है कि शिवसेना (Shiv Sena) को लेकर एनसीपी-कांग्रेस (Congress NCP) की मुंबई में जो बैठक होने वाली थी, वो अब रद्द हो गई है. बताया जा रहा है कि एनसीपी नेता अजीत पवार बारामती के लिए निकले गए हैं. इस बैठक में ही तय होना था कि किन शर्तों पर ये दोनों पार्टियां शिवसेना को सरकार बनाने के लिए समर्थन देंगी.

वहीं बुधवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के बीच वार्ता तीनों दलों के शीर्ष नेताओं द्वारा ‘साझा न्यूनतम कार्यक्रम’ को मंजूर किए जाने के बाद ही शुरू होगी.

कांग्रेस-एनसीपी को करनी थी ये चर्चा
महाराष्ट्र में मंगलवार को राष्ट्रपति शासन लग जाने के चलते कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) करीबी रूप से काम कर रहे हैं. दोनों दल इस बारे में चर्चा कर रहे हैं कि क्या उन्हें सरकार गठन के लिए शिवसेना का समर्थन करना चाहिए तथा इसके लिए क्या शर्तें हों.

साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर होनी है बात
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री चव्हाण ने मीडिया को बताया कि कांग्रेस और राकांपा एक संभावित साझा न्यूनतम कार्यक्रम (सीएमपी) पर बातचीत कर रही हैं, जो शासन का उनका एजेंडा होगा. उन्होंने कहा, ‘हम शिवसेना नेतृत्व से एक-दो दिनों में मिलेंगे.’

चव्हाण ने कहा, ‘मसौदे (सीएमपी) को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राकांपा प्रमुख शरद पवार और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की मंजूरी की जरूरत होगी’ उन्होंने कहा कि इसके बाद ही सरकार गठन पर वार्ता होगी.
Loading...

सोनिया गांधी मसौदे को कर सकती हैं खारिज
ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि नयी व्यवस्था में कांग्रेस को उप मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष का पद मिल सकता है. हालांकि, चव्हाण ने कहा कि सत्ता साझेदारी फार्मूले पर अभी चर्चा नहीं हो रही है. उन्होंने कहा, ‘सोनिया गांधी (सीएमपी) मसौदे को खारिज भी कर सकती हैं.  सत्ता साझेदारी पर चर्चा का सवाल अभी कहां पैदा होता है?’.

‘ऑपरेशन लोटस’ को रोकना है लक्ष्य
उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस नेता बुधवार शाम यहां चव्हाण के कार्यालय में बैठक कर रहे हैं और वे सीएमपी पर चर्चा के लिये राकांपा द्वारा गठित पांच सदस्यीय समिति से मिलेंगे. इससे पहले, एक समाचार चैनल से बात करते हुए चव्हाण ने कहा कि उनकी पार्टी अन्य दलों के विधायकों को अपने (भाजपा के) पाले में करने के लिए भाजपा द्वारा संभावित ‘ऑपरेशन लोटस’ को रोकने के लिये अलर्ट पर है.

चव्हाण ने आरोप लगाया कि भाजपा, शिवसेना को कांग्रेस और राकांपा से हाथ मिलाने से रोकने की कोशिश कर रही है. उन्होंने भाजपा नेता नारायण राणे द्वारा मंगलवार को दिए एक बयान का जिक्र किया, जिसके मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने राणे को राज्य में भाजपा नीत सरकार के गठन पर काम शुरू करने को कहा है.

ये भी पढ़ें-

महाराष्ट्र: बीजेपी का शिवसेना पर तंज- कांग्रेस के साथ हिंदुत्व का एजेंडा कैसे फिट होगा?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 8:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...