इंजीनियर पर कीचड़ फेंकवाने वाले विधायक नितेश राणे ने की सीने में दर्द की शिकायत, अस्‍पताल में भर्ती

नितेश राणे ने थाने में पुलिसवालों से गर्मागर्म बहस भी की. उन्होंने तेज आवाज में कहा, 'आप जो भी करना चाहते हैं, कल कर लेना. यदि आप आज मुझे गिरफ्तार कर लो, वे जीत जाएंगे और कांकावली के लोग इसी तरह से मरते रहेंगे.'

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 9:14 AM IST
इंजीनियर पर कीचड़ फेंकवाने वाले विधायक नितेश राणे ने की सीने में दर्द की शिकायत, अस्‍पताल में भर्ती
इंजीनियर पर कीचड़ फिंकवाने वाले विधायक नितेश राणे अस्‍पताल में भर्ती.
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 9:14 AM IST
महाराष्‍ट्र में इंजीनियर पर कीचड़ डलवाने वाले कांग्रेस विधायक नितेश राणे को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस हिरासत में नितेश राणे का मेडिकल परीक्षण किया गया. इस दौरान उन्‍होंने सीने में दर्द की शिकायत की और उन्‍हें तुरंत कांकावली अस्‍पताल में ले जाया गया. राणे के मेडिकल चेकअप के बाद रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है.

बता दें कि महाराष्ट्र के कांग्रेस विधायक और पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे के बेटे नितेश नारायण राणे ने गुरुवार रात ही थाने में सरेंडर किया था. इस दौरान उन्‍होंने थाने में पुलिसवालों से गर्मागर्म बहस भी की. उन्होंने तेज आवाज में कहा, 'आप जो भी करना चाहते हैं, कल कर लेना. यदि आप आज मुझे गिरफ्तार कर लो, वे जीत जाएंगे और कांकावली के लोग इसी तरह से मरते रहेंगे.'

ये है कीचड़ फिंकवाने का पूरा मामला
गुरुवार को नितेश राणे के नेतृत्व में स्वाभिमान संगठन के कार्यकर्ताओं ने हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के इंजीनियर प्रकाश शेडकर से मुलाकात की. कांग्रेस विधायक नितेश राणे सड़क निर्माण कार्य का जायजा लेने गए थे. इसी दौरान उन्होंने गुस्से में आकर इंजीनियर पर कीचड़ फिंकवा दिया.

इसके बाद विधायक और उनके समर्थकों ने इंजीनियर को नदी पर बने पुल से बांध दिया और उनसे बदसलूकी की. मामला सिंधु दुर्ग जिले के कनकवली की है. यहां लगातार चार दिन से बारिश हो रही है. इससे मुंबई-गोवा एक्सप्रेस वे पर बड़े-बड़े गड्ढे बन गए हैं. इससे लोगों में नाराजगी है. नितेश राणे ने एक्सप्रेस वे काम में देरी और गड्ढों के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए इंजीनियर को कीचड़ से नहला दिया.

कौन हैं नितेश नारायण राणे
नितेश नारायण राणे कांकावली से विधायक कांग्रेस विधायक हैं. वह गैर-सरकारी संगठन 'स्वाभिमान संगठन' के प्रमुख भी हैं. 2014 के विधानसभा चुनाव में वह 25 हजार से ज्यादा वोटों से चुनाव जीते थे. इसके अलावा वह स्वाभिमान संगठन नाम से एक गैर सरकारी संगठन (NGO) भी चलाते हैं. उन्होंने इंग्लैंड से एमबीए की पढ़ाई की है. भारत आने के बाद उन्होंने राजनीति में एंट्री ली. गौरतलब है कि नितेश के पिता नारायण राणे महाराष्ट्र के बड़े राजनेता हैं. 1999 में वह राज्य के मुख्यमंत्री बने थे, उन्हें शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे का करीबी माना जाता था.
Loading...

ये भी पढ़ें - 
First published: July 5, 2019, 8:41 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...