• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • महाराष्‍ट्र: सोनू सूद पर शिवसेना-कांग्रेस में मतभेद, राउत ने उड़ाया मजाक तो गृह मंत्री ने की तारीफ

महाराष्‍ट्र: सोनू सूद पर शिवसेना-कांग्रेस में मतभेद, राउत ने उड़ाया मजाक तो गृह मंत्री ने की तारीफ

गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने सोनू सूद के काम की तारीफ की है. उन्होंने कहा, ‘मैंने नहीं सुना कि संजय राउत (Sanjay Raut) ने इस बारे में क्या कहा है. सोनू सूद या कोई भी व्यक्ति ऐसी पहल करता है तो हमलोग उसकी तारीफ करेंगे.’

गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने सोनू सूद के काम की तारीफ की है. उन्होंने कहा, ‘मैंने नहीं सुना कि संजय राउत (Sanjay Raut) ने इस बारे में क्या कहा है. सोनू सूद या कोई भी व्यक्ति ऐसी पहल करता है तो हमलोग उसकी तारीफ करेंगे.’

गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने सोनू सूद के काम की तारीफ की है. उन्होंने कहा, ‘मैंने नहीं सुना कि संजय राउत (Sanjay Raut) ने इस बारे में क्या कहा है. सोनू सूद या कोई भी व्यक्ति ऐसी पहल करता है तो हमलोग उसकी तारीफ करेंगे.’

  • Share this:
    मुंबई. लॉकडाउन (Lockdown) में फंसे सैकड़ों प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाकर बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद (Sonu Sood) ने सबका दिल जीत लिया. लेकिन उनकी इस दरियादिली पर महाराष्ट्र सरकार में मतभेद पैदा हो गए. शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) के सोनू सूद की इस मदद पर सवाल उठाए, तो उसके उलट महाराष्‍ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सोनू के काम की तारीफ की. देशमुख ने कहा, ‘मैंने नहीं सुना कि संजय राउत ने इस बारे में क्या कहा है. सोनू सूद या कोई भी व्यक्ति ऐसी पहल करता है तो हमलोग उसकी तारीफ करेंगे.’

    दरअसल, मुखपत्र 'सामना' में शिवसेना के नेता संजय राउत ने रविवार को लिखा है कि कोरोना वायरस के दौरान लॉकडाउन में एक नए 'महात्मा' आ गए हैं, जिसे लोग सोनू सूद कहते हैं. राउत ने लिखा, 'कहा जा रहा है कि इस एक्टर ने लाखों प्रवासियों को उनके अपने राज्यों में भेजा. महाराष्ट्र के राज्यपाल ने भी 'महात्मा सूद' की तारीफ की है. ऐसा लग रहा है कि केंद्र और राज्य सरकारें प्रवासियों को भेजने के लिए कोई काम नहीं कर रही है.' राउत ने ये भी सवाल उठाया है कि जब राज्य सरकारें प्रवासियों को आने नहीं दे रही है तो फिर वो आखिर कहां जा रहे हैं.

    अनिल देशमुख ने भी की सोनू की तारीफ
    इस मुद्दे पर जब गृह मंत्री अनिल देशमुख से सवाल किया गया तो उनका कहना था, 'एक्‍टर सोनू सूद ने बहुत से प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजकर अच्‍छा काम किया है. मैंने नहीं सुना कि संजय राउत साहब ने इस पर क्‍या कहा है. जो लोग अच्‍छी पहल करते हैं हम उनकी सराहना करते हैं भले ही वह सोनू सूद हो या कोई और.'



    महाराष्ट्र सरकार ने 9671 कैदियों को किया रिहा
    गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा, ‘सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए हमने 9671 कैदियों को रिहा कर दिया है. अब हमनें महाराष्ट्र की 60 जेलों में बंद 11 हजार से अधिक कैदियों को इमरजेंसी पेरोल पर छोड़ने का फैसला लिया है. राज्य की जेलों में कुल 38 हजार कैदी हैं. इसके अलावा 24 जिलों में 31 अस्थायी जेल बनाई गई हैं.’



    गौरतलब है कि औरंगाबाद में हरसुल की सेंट्रल जेल में एक कैदी कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था. जिसके कुछ दिन बाद शनिवार को 29 अन्य कैदी इस महामारी आ गए. 29 कैदी कोरोना पॉजिटिव निकले. महाराष्ट्र सरकार ने अब जेलों में कोरोना फैलने से रोकने के लिए कैदियों की संख्या को कम करने का फैसला लिया है.

    ये भी पढ़ें-
    श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में जन्मे 36 बच्चे, एक मां ने बेटे का नाम रखा ‘लॉकडाउन’

    अनलॉक1: इस राज्य ने धार्मिक स्थलों को खोलने को लेकर अभी नहीं लिया है कोई फैसला

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज