लाइव टीवी

महाराष्ट्र: स्पीकर चुने जाने के बाद सदन को संबोधित करेंगे राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी

News18Hindi
Updated: December 1, 2019, 11:48 AM IST
महाराष्ट्र: स्पीकर चुने जाने के बाद सदन को संबोधित करेंगे राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी
स्पीकर चुनाव के बाद शाम 4 बजे सदन को संबोधित करेंगे राज्यपाल कोश्यारी (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र (Maharashtra) विधानसभा में स्पीकर चुने जाने के बाद रविवार शाम 4 बजे राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) सदन को संबोधित करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2019, 11:48 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में विधानसभा विशेष सत्र जारी है. रविवार को विधानसभा में स्पीकर का चुनाव होना है. हालांकि महाविकास अघाड़ी उम्मीदवार कांग्रेस विधायक  नाना पटोले का महाराष्ट्र विधानसभा में निर्विरोध स्पीकर (Assembly Speaker) चुना जाना तय हो गया है. दरअसल, बीजेपी (BJP) ने अपने उम्मीदवार किसन शंकर कथोरे का नाम वापस ले लिया है. स्पीकर चुने जाने के बाद शाम 4 बजे राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) सदन को संबोधित करेंगे.

महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) ने कहा कि बीजेपी ने शनिवार को महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए किसन शंकर कथोरे का नाम आगे बढ़ाया था. लेकिन अब सभी नेताओं से बातचीत के बाद हमने कथोरे का नाम वापस लेने का फैसला किया है.

उद्धव सरकार ने फ्लोर टेस्ट किया पास
महाराष्ट्र की शिवसेना, एनसीपी (NCP) और कांग्रेस की गठबंधन सरकार ने शानिवार को अपना बहुमत साबित किया था. शनिवार दोपहर ढाई बजे विधानसभा में प्रोटेम स्पीकर (Protem Speaker) दिलीप वलसे पाटिल की मौजूदगी में फ्लोर टेस्ट (Floor Test) करवाया गया, जिसमें उद्धव सरकार के पक्ष में 169 मत पड़े. वहीं, सदन में मौजूद अन्य दलों (MNS, AIMIM और CPI) के चार विधायक वोटिंग के दौरान तटस्थ रहे यानी उन्होंने न तो सरकार के पक्ष और न ही उसके विरोध में वोट किया.

बीजेपी ने फ्लोर टेस्ट का किया बहिष्कार
वोटिंग से पहले सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच हंगामा और नारेबाजी हुई. पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी विधायक देवेंद्र फडणवीस ने अपने भाषण में कहा कि नया प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति गलत हुई है. इसपर प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किए गए दिलीप पाटिल ने कहा कि गवर्नर के आदेश के बाद ही प्रोटेम स्पीकर को बदला गया है. भारी हंगामे के बीच कांग्रेस के अशोक चव्हाण ने सदन में विश्वास मत पेश किया जिसे एनसीपी के नवाब मलिक और शिवसेना के सुनील प्रभु ने अनुमोदित किया. इसके बाद बीजेपी के सभी विधायक (BJP MLA's) नारेबाजी करते हुए विधानसभा से बाहर निकल आए और उन्होंने फ्लोर टेस्ट का बहिष्कार किया.

ये भी पढ़ें-
Loading...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 11:39 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...