लाइव टीवी

महाराष्ट्र का 'महाभारत': 60 घंटे में नहीं बनी सरकार तो गहराएगा राजनीतिक संकट

Anil Rai | News18Hindi
Updated: November 6, 2019, 11:20 AM IST
महाराष्ट्र का 'महाभारत': 60 घंटे में नहीं बनी सरकार तो गहराएगा राजनीतिक संकट
महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए बीजेपी-शिवसेना में कोशिशें जारी

जैसे-जैसे घड़ी की सुइयां आगे बढ़ रही हैं, महाराष्ट्र (Maharashtra) में राजनीतिक संकट (Political Crisis) गहराता जा रहा है. विधानसभा चुनाव (Assembly Election) के परिणाम आए 12 दिन बीत चुके हैं लेकिन नए सरकार के गठन का रास्ता साफ नहीं हो सका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2019, 11:20 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मीडिया (Media) में भले ही बीजेपी (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) कभी एक साथ तो कभी अलग महाराष्ट्र में सरकार (Government in Maharashtra) बनाने का दावा पेश कर रहे हों, लेकिन राज्यपाल (Governor) भगत सिंह कोश्यारी के पास अभी तक किसी भी राजनीतिक दल (Political Party) ने सरकार बनाने का औपचारिक दावा पेश नहीं किया है. यानी साफ है कि सरकार बनाने की औपचारिक प्रक्रिया भी अभी तक शुरू नहीं हुई है. महाराष्ट्र विधानसभा (Maharashtra Assembly) का कार्यकाल शुक्रवार आठ नवंबर को खत्म हो रहा है ऐसे में यदि अगले 60 घंटे में नई सरकार का शपथ ग्रहण नहीं हुआ तो महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट (Political Crisis) खड़ा हो जाएगा

लगाना पड़ सकता है राष्ट्रपति शासन
वरिष्ठ वकील और सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष विकास सिंह की मानें तो अगर आठ नवंबर तक नई सरकार का गठन नहीं हो पाता तो नौ नवंबर को महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगना तय है. दरअसल किसी राज्य या केंद्र सरकार का कार्यकाल तो पांच साल से ज्यादा हो सकता है लेकिन विधानसभा का कार्यकाल पांच साल से ज्यादा नहीं हो सकता, और बिना विधानसभा के अस्तित्व में रहे राज्य में सरकार नहीं हो सकती. 2014 के विधानसभा चुनाव के बाद देवेंद्र फडणवीस ने 31 अक्टूबर, 2014 को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी, लेकिन विधानसभा की पहली बैठक आठ नवम्बर 2014 को हुई थी, ऐसे में विधानसभा का कार्यकाल आठ नवंबर, 2019 को समाप्त हो रहा है. हालांकि फडणवीस सरकार का कार्यकाल देखें तो ये पांच साल की समय सीमा पार कर चुका है.

बीजेपी ने कर्नाटक की गलती से नहीं लिया सबक

महाराष्ट्र से अब तक जो खबरें आ रही हैं, उससे साफ है कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सरकार बनाने की हड़बड़ी में नहीं है. पार्टी सूत्रों की मानें तो बीजेपी कर्नाटक की गलती महाराष्ट्र में नहीं दोहराना चाहती है. ऐसे में बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व चाहता है कि सरकार बनाने से पहले विधानसभा में बहुमत का आकड़ा साफ-साफ दिखना चाहिए.

ये भी पढ़ें -

शिवसेना का BJP को 48 घंटे का अल्टीमेटम- नहीं माने तो NCP के साथ बनाएंगे सरकार
Loading...

महाराष्ट्र संकट सुलझाने के लिए शिवसेना ने RSS प्रमुख को लिखा पत्र, कहा- गडकरी निकालें रास्ता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 11:02 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...