लाइव टीवी

शिवसेना और NCP एक साथ लड़ सकती है BMC चुनाव, डिप्‍टी CM अजित पवार ने दिए संकेत
Mumbai News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 1, 2020, 7:25 PM IST
शिवसेना और NCP एक साथ लड़ सकती है BMC चुनाव, डिप्‍टी CM अजित पवार ने दिए संकेत
अजित पवार (Deputy Cm Ajit Pawar) ने एनसीपी के कार्यकर्ताओं से कहा कि उन्‍हें सहयोगियों के बारे में गलतफहमी नहीं होनी चाहिए. आने वाले समय में शिवसेना और एनसीपी को एक साथ मिलकर चुनाव लड़ना है.

अजित पवार (Deputy Cm Ajit Pawar) ने एनसीपी के कार्यकर्ताओं से कहा कि उन्‍हें सहयोगियों के बारे में गलतफहमी नहीं होनी चाहिए. आने वाले समय में शिवसेना और एनसीपी को एक साथ मिलकर चुनाव लड़ना है.

  • Share this:
मुंबई. एनसीपी (NCP) नेता और महाराष्ट्र (Maharashtra) के उपमुख्यमंत्री अजित पवार (Deputy Cm Ajit Pawar) ने रविवार को बृहन्मुंबई नगर निगम/बीएमसी (BMC) चुनाव शिवसेना के साथ मिलकर लड़ने के संकेत दिए हैं. पवार ने कहा कि शिवसेना बीएमसी में नंबर एक पार्टी है और उसे वहां रहना चाहिए. क्‍योंकि वे हमारे गठबंधन साथी हैं. लेकिन एनसीपी को अगले बीएमसी चुनाव में दूसरे नंबर पर आने की कोशिश करनी चाहिए.

अजित पवार ने एनसीपी के कार्यकर्ताओं से कहा कि उन्‍हें सहयोगियों के बारे में गलतफहमी नहीं होनी चाहिए. आने वाले समय में शिवसेना और एनसीपी को एक साथ मिलकर चुनाव लड़ना है.





शिवसेना का मेयर पद पर कब्जा
पिछले साल नवंबर महीने में शिवसेना की उम्मीदवार किशोरी पेडणेकर को मुंबई महानगर पालिका का निर्विरोध मेयर चुना गया. जबकि डिप्टी मेयर पद पर भी शिवसेना के सुहास वाडकर निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं. दरअसल, मेयर पद के चुनाव में शिवसेना के अलावा किसी दूसरी पार्टी ने अपना उम्मीदवार नहीं उतारा था. गौरतलब है कि मुंबई मेयर पद का कार्यकाल ढाई साल का होता है. इससे पहले फरवरी 2017 में बीजेपी के समर्थन से शिवसेना के विश्वनाथ महादेश्वर मुंबई के मेयर बने थे. उनका कार्यकाल खत्‍म होने के बाद किशोरी पेडणेकर मेयर चुनी गईं.

शिवसेना के पास 93 पार्षद
227 सीटों वाली मुंबई महानगर पालिका में शिवसेना के पास 93 पार्षद हैं, जबकि बीजेपी के पास 83 और कांग्रेस के पास 29 पार्षद हैं. जानकारी के मुताबिक 2019-20 में बीएमसी का बजट 30,692 करोड़ रुपये है, जबकि 2016-17 में यह बजट 37,052 करोड़ रुपये था. इतने भारी-भरकम बजट की वजह से ही बीएमसी देश की सबसे अमीर महानगर पालिका भी मानी जाती है. यह बजट बजट नागालैंड, मेघालय, सिक्किम और गोवा के बजट से भी ज्यादा है.

बता दें कि 2017 में हुए बीएमसी चुनाव में कांग्रेस और एनसीपी को करारी हार का सामना करना पड़ा था. कांग्रेस को 31 सीटें मिली जबकि एनसीपी 9 सीटों ही पर सिमट गई. इस चुनाव में शिवसेना ने 84 सीटों पर जीत दर्ज की थी जबकि बीजेपी केवल शिवसेना से 2 सीटों से पीछे थी. बीजेपी ने 82 सीटों पर जीत दर्ज की थी. बीएमसी में बहुमत के लिए 114 सीटों की जरूरत होती है.

ये भी पढ़ें: 8 महीने गर्भवती विधायक नमिता मूंदड़ा ने विधानसभा सत्र में लिया हिस्सा, बोलीं- 'यह मेरी ड्यूटी है'

ये भी पढ़ें: ठाणे: नाबालिग बेटी का यौन शोषण करने का आरोपी 51 वर्षीय शख्स बरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 1, 2020, 6:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading