शिवसेना ने कांग्रेस को बताया ‘पुरानी चरमराती खटिया’, थोराट बोले- इससे गलत संदेश गया
Mumbai News in Hindi

शिवसेना ने कांग्रेस को बताया ‘पुरानी चरमराती खटिया’, थोराट बोले- इससे गलत संदेश गया
शिवसेना ने कांग्रेस को बताया पुरानी चरमराती खटिया (फाइल फोटो)

शिवसेना (Shiv Sena) के मुखपत्र में प्रकाशित संपादकीय में लिखा, ‘कांग्रेस पार्टी भी अच्छा काम कर रही है, लेकिन समय-समय पर पुरानी खटिया रह-रह कर कुरकुर की आवाज करती है.'

  • Share this:
मुंबई. शिवसेना (Shiv Sena) ने मुखपत्र 'सामना' के जरिए कांग्रेस पर हमला बोला है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' में कांग्रेस (Congress) की तुलना ‘पुरानी चरमराती खटिया’ से की है. जिसको लेकर कांग्रेस भड़क गई है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोराट (Balasaheb Thorat) ने कहा कि इससे कांग्रेस के बारे में गलत संदेश गया है. ऐसे में सवाल उठने लगे हैं कि क्या महाराष्ट्र सरकार में सभी दलों के बीच सब कुछ ठीक चल रहा है.

शिवसेना के मुखपत्र में प्रकाशित संपादकीय में लिखा, ‘कांग्रेस पार्टी भी अच्छा काम कर रही है, लेकिन समय-समय पर पुरानी खटिया रह-रह कर कुरकुर की आवाज करती है. खटिया पुरानी है लेकिन इसकी एक ऐतिहासिक विरासत है. इस पुरानी खाट पर करवट बदलने वाले लोग भी बहुत हैं. इसलिए यह कुरकुर महसूस होने लगी है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को आघाड़ी सरकार में ऐसी कुरकुराहट को सहन करने की तैयारी रखनी चाहिए.’

कांग्रेस बोली- इस लेख से गलत संदेश जाएगा
उद्धव ठाकरे के साथ कांग्रेस नेताओं की बैठक से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी मुख्यमंत्री के साथ जनता से जुड़े मुद्दों पर बात करना चाहती है, ना कि अधिकारियों के तबादलों पर. उन्होंने कहा, ‘मुख्यमंत्री गठबंधन और सरकार के प्रमुख हैं. जब हमें सुना जाएगा तो उन्हें भी संतोष होगा. ‘सामना’ को एक और संपादकीय लिखना चाहिए. आज का लेख पूरी तरह अधूरी जानकारी पर आधारित है जो हमारे बारे में गलत संदेश देता है. हम महाराष्ट्र विकास आघाड़ी के साथ हैं.’
वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने कही थी असंतोष की बात


‘सामना’ में विधान परिषद में आने वाले समय में राज्यपाल के कोटा के आधार पर होने वाले मनोनयन विधानसभा में प्रत्येक पार्टी के सदस्यों की संख्या के अनुपात में होने के सुझाव के बारे में पूछे जाने पर थोराट ने कहा कि मंत्रालयों का आवंटन इसी आधार पर किया गया था. थोराट और उनके मंत्रिमंडल सहयोगी अशोक चव्हाण जैसे वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने कांग्रेस में असंतोष की बात की थी.

खबरों के अनुसार चह्वाण ने कहा था कि कांग्रेस के नेताओं और मंत्रियों में यह भावना घर कर रही है कि सत्तारूढ़ गठजोड़ में साझेदार के तौर पर उसे उचित हिस्सेदारी नहीं मिल रही. राज्य विधान परिषद की कुल 12 सीटों के लिए कांग्रेस में नए सिरे से असंतोष उभर सकता है. वरिष्ठ कांग्रेस नेता इस बात पर जोर दे रहे हैं कि तीनों दलों-कांग्रेस, शिवसेना और राकांपा को चार-चार सीटें मिलें.

ये भी पढ़ें :- 

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा शकील की बड़ी बहन हमीदा की कोरोना से मौत

मुंबई में 451 मौतें रिकॉर्ड से गायब! अब डेटा तलाशने में जुटी BMC
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading